MPPSC Hindi Question Answer | हिन्दी प्रश्न उत्तर लोकसेवा आयोग परीक्षा

 MPPSC Hindi Question Answer 
हिन्दी प्रश्न उत्तर लोकसेवा आयोग परीक्षा 

MPPSC Hindi Question Answer  हिन्दी प्रश्न उत्तर लोकसेवा आयोग परीक्षा


प्रश्न . 'संक्षेपण' किसे कहते हैं?

उत्तर- किसी विस्तृत लिखित सामग्री से अप्रासंगिक असम्बद्ध एवं अनावश्यक बातों को निकालकर उसके मूल तथ्यों को प्रवाहपूर्ण, सुसम्बद्ध तथा संक्षिप्त रूप में लिखने की क्रिया को संक्षेपण या संक्षिप्तीकरण कहते हैं।


प्रश्न . एक आदर्श संक्षेपण की विशेषताएँ बताइए।

उत्तर- एक आदर्श संक्षेपण में निम्न विशेषताएँ होनी चाहिए

(1) पूर्णता

(2) संक्षिप्तता

(3 ) मौलिकता

(4) स्पष्टता

(5) प्रभावोत्पादकता तथा 

(6) उचित शीर्षक।


प्रश्न . पारिभाषिक शब्दों का निर्माण कितनी तरह से किया जा सकता है?

उत्तर- पारिभाषिक शब्दों का निर्माण निम्न तरह से किया जा सकता है

(1) उपसर्ग द्वारा, (2) प्रत्यय द्वारा, (3) समास द्वारा, (4) संधि द्वारा, (5) विदेशी शब्दों द्वारा, (6) अनुकूलन द्वारा।

 

प्रश्न . भारत सरकार ने वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दों की कितनी शब्दावलियाँ प्रकाशित की हैं?

उत्तर- भारत सरकार के वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग ने विभिन्न विषयों से सम्बन्धित तकनीकी एवं वैज्ञानिक शब्दों की लगभग 20 शब्दावलियाँ प्रकाशित की हैं।

 

प्रश्न . पारिभाषिक एवं तकनीकी शब्दों में क्या अन्तर है?

उत्तर- पारिभाषिक एवं तकनीकी शब्दों में बहुत सूक्ष्म अन्तर है। पारिभाषिक शब्द साहित्यिक व गैर-साहित्यिक दोनों क्षेत्र में होते हैं, किन्तु तकनीकी शब्द केवल विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में ही प्रयुक्त होते हैं ।

 

प्रश्न . 'अनुस्मारक' किसे कहते हैं?

उत्तर- जब पूर्व में किसी व्यवित या अधिकारी को भेजे गए पत्र या अर्द्धसरकारी पत्र का जवाब न आने अथवा अपेक्षित कार्यवाही न होने पर जो स्मरण पत्र भेजा जाता है, उसे अनुस्मारक कहते हैं।

 

प्रश्न . 'ज्ञापन' किसे कहते है?

उत्तर- शासकीय पत्राचार के अन्तर्गत जब अपने समकक्ष अथवा अधीनस्थ अधिकारियों या कर्मचारियों को साधारण संदेश देने के लिए जो पत्र जारी किया जाता है, उसे ही ज्ञापन कहते हैं।

 

प्रश्न . 'कार्यालय आदेश' का क्या तात्पर्य है

उत्तर- 'कार्यालय आदेश' का तात्पर्य उस आदेश पत्र से है जो सक्षम अधिकारियों द्वारा अपने अधीनस्थ कर्मचारियों या अधिकारियों को नियुक्ति, पदोन्नति, अवकाश या अन्य सुविधाओं की स्वीकृति हेतु जारी किया जाता है।

 

प्रश्न . 'परिपत्र' किसे कहते हैं?

उत्तर- जब किसी कार्यालय द्वारा किसी शासकीय पत्र, ज्ञापन अथवा आदेश को एक साथ अनेक व्यक्तियों (प्रेषितियों) को भेजा जाता है तो उसे परिपत्र कहते हैं।


प्रश्न . 'अधिसूचना' किसे कहते हैं?

उत्तर- जब सरकारी नियम, आदेश, चेतावनी, नियुक्ति अवकाश आदि से सम्बन्धित सूचना को सम्बन्धित व्यक्तियों एवं आम जनता के लिए राजपत्र (गजट) में प्रकाशित किया जाता है तो उसे अधिसूचना कहते हैं।

 

प्रश्न . 'विज्ञप्ति' किसे कहते हैं?

उत्तर- जब सरकारी या गैर-सरकारी प्रतिष्ठान अपने किसी निर्णय, घोषणा, निर्देश या योजना आदि से सम्बन्धित सूचना को आमजनता एवं सम्बन्धित व्यक्तियों को अवगत करने हेतु प्रकाशित करवाते हैं तो उसे विज्ञप्ति कहते हैं।

 
प्रश्न. 'प्रेस-विज्ञप्ति का आशय बताइए ।

उत्तर- प्रेस-विज्ञप्ति का आशय उस प्रकाशित सूचना से हैं जिसे शासकीय अथवा गैर-सरकारी प्रतिष्ठान अपने किसी नीतिगत निर्णय अथवा सूचना को आम जनता तक पहुँचाने हेतु समाचार पत्रों, टी. वी. या रेडियो में प्रकाशित या प्रसारित करवाते हैं।

 

प्रश्न . वर्गीकृत विज्ञापन' किसे कहा जाता है?

 उत्तर- समाचार पत्रों में जब एक ही विषय से सम्बन्धित विभिन्न विज्ञापनों को एक ही वर्ग में एक शीर्षक के अन्तर्गत प्रकाशित किया जाता है तो उन्हें वर्गीकृत विज्ञापन कहते हैं।

 

प्रश्न . 'निविदा सूचना' किसे कहते हैं?

उत्तर- सरकारी एवं गैर-सरकारी प्रतिष्ठानों द्वारा अपने किसी निर्माण कार्य को सम्पन्न करवाने, सामान की आपूर्ति करवाने या अपने सामान की नीलामी करवाने हेतु सम्बन्धित व्यक्तियों के सूचनार्थ समाचार पत्रों में प्रस्तावों का जो आमंत्रण प्रकाशित किया जाता है उसे निविदा सूचना कहते हैं।


प्रश्न . 'कार्यालय टिप्पणी क्यों लिखी जाती है?

उत्तर- यह टिप्पणी इसलिए लिखी जाती है ताकि विचाराधीन विषय या प्रकरण के सम्बन्ध में अधिकारी को उचित निर्णय लेने में आसानी हो।

 

प्रश्न . 'कृदन्त' किसे कहते हैं?

उत्तर- क्रिया या धातु के अन्त में प्रयुक्त होने वाले प्रत्ययों को कृत प्रत्यय कहते हैं और उनके मेल से बने शब्द को 'कृदन्त' कहते हैं।

 

प्रश्न . पदबंध की परिभाषा दीजिए।

उत्तर- वाक्य के उस भाग को, जिसमें एक से अधिक पद परस्पर सम्बद्ध होकर अर्थ तो देते हैं, किन्तु पूरा अर्थ नहीं देते- पदबन्ध या वाक्यांश कहते हैं।

 

प्रश्न . हिन्दी निबन्ध रचना में कौन-कौनसी शैलियाँ प्रयोग की गई हैं?

उत्तर- हिन्दी निबंध रचना में निम्न शैलियाँ प्रायः प्रयुक्त हुई हैं-

(1) समान शैली, (2) व्यास शैली, (3) विवेचन शैली, (4) व्यंग्य शैली , (5 ) धारा और तरंग शैली , (6) निगमन व आगमन शैली।

 

प्रश्न . समास शैली से आप क्या समझते हैं? संक्षेप में बताइए।

उत्तर- समास का अर्थ है- संक्षेप। जो शैली अपनी बात को सीमित शब्दों में प्रभावपूर्ण ढंग से अभिव्यक्त करती है उसे समास शैली कहते हैं। इस शैली का प्रयोग मुख्यतः विचारात्मक निबन्धों में होता है।

 

प्रश्न . व्यास शैली का संक्षेप में उल्लेख कीजिए।

उत्तर- व्यास शैली का अर्थ है- विस्तृत शैली । जो शैली अपनी बात को विस्तारपूर्वक, बोधगम्य और रोचक ढंग से व्यक्त करती है, उसे व्यास शैली कहते हैं। इस शैली का प्रयोग प्रायः वर्णनात्मक और विवरणात्मक निबन्धों में होता है।


प्रश्न . विवेचन शैली की विशेषता बताइए।

उत्तर- इस शैली के अन्तर्गत लेखक तर्क-वितर्क, प्रमाण-पुष्टि, व्याख्या, निर्णय आदि का सहारा लेकर अपना कथ्य प्रस्तुत करते हैं। विचारात्मक निबंधों में इसका बहुलता से प्रयोग होता है।

 

प्रश्न . व्यंग्य शैली का संक्षेप में उल्लेख कीजिए।

उत्तर- यह शैली तीखी, मर्मभेदी एवं मारक होती है। इसमें रचनाकार किंचित हास्य का पुट देकर सामाजिक, धार्मिक या राजनैतिक विसंगतियों एवं अन्य विषयों पर तीक्ष्ण कटाक्ष करते हुए विषयवस्तु को पठनीय और मनोरंजक बना देता है।

 

प्रश्न . धारा और तरंग शैली को संक्षेप में समझाइए।

उत्तर- भावात्मक निबन्धों के लिए प्रायः इस शैली का प्रयोग किया जाता है। धारा शैली में भावों की धारा प्रभावपूर्ण होकर प्रायः एक गति से प्रवाहित होती है, किन्तु तरंग शैली में ये भाव लहराते हुए प्रतीत होते हैं।

 

प्रश्न . निगमन व आगमन शैली को सीमित शब्दों में समझाइए।

उत्तर- आगमन शैली, निगमन शैली के विपरीत होती है। निगमन शैली में पहले विचारों को सूत्र रूप में प्रस्तुत किया जाता है, फिर उसकी विस्तारपूर्वक व्याख्या की जाती है। प्रतिपाद्य विषय की व्याख्या की पुष्टि से निगमन और आगमन शैलियाँ महत्वपूर्ण मानी जाती हैं।

 

प्रश्न . वर्णनात्मक निबंध किसे कहते हैं?

उत्तर- वर्णनात्मक निबंध उस निबंध को कहते हैं, जिसमें प्रायः यात्रा, तीर्थ, पर्व, त्योहार, दर्शनीय स्थल तथा सभा या सम्मेलन आदि का वर्णन होता है।

प्रश्न . विवरणात्मक निबंध किसे कहते हैं?

उत्तर- वे निबंध जो शिकार, पर्वतारोहण, दुर्गम प्रदेश की यात्रा, साहसपूर्ण कार्यों आदि का रोचक एवं कलात्मक वर्णन प्रस्तुत करते हैं, उन्हें विवरणात्मक निबंध कहते हैं।


प्रश्न . विचारात्मक निबंध की संक्षिप्त जानकारी दीजिए।

उत्तर- इन निबंधों में बौद्धिक विवेचना की प्रधानता पाई जाती है। दर्शन, अध्यात्म, मनोविज्ञान जैसे गूढ़ विषयों का सहारा लेकर लेखक अपने विचारों को तर्क- वितर्क, तथा खण्डन-मंडन द्वारा प्रस्तुत करता है। इसमें लेखक के अध्ययन, मनन और चिन्तन का स्पष्ट प्रभाव दिखाई देता है।

प्रश्न . भावात्मक निबन्ध की विशेषताएँ बताइए।

उत्तर- इन निबन्धों में भावतत्व की प्रधानता होती है। इसमें रागात्मकता का आधिक्य होने से कवित्वपूर्ण उद्गार तथा शैलीगत सौन्दर्य का स्पष्ट दर्शन होता है। कल्पना के साथ काव्यात्मकता का पुट इन निबन्धों की प्रमुख विशेषता है।

 

प्रश्न . लोकोक्तियों की तीन मुख्य विशेषताएँ बताइए।

उत्तर- इनकी निम्न मुख्य विशेषताएँ हैं

(1) लोकोक्ति गागर में सागर समेट करती है। इसका संक्षिप्त होना इसके सौन्दर्य का प्रतीक है।

(2) ये मानवीय ज्ञान की धोरहर हैं और अपने आप में पूर्ण कथन होती हैं।

(3) इनके प्रयोग से भाषा में कलात्मकता आ जाती है।

 

प्रश्न . मुहावरों की तीन मुख्य विशेषताएँ बताइए।

उत्तर- इनकी निम्न मुख्य विशेषताएँ हैं

(1) मुहावरे लोक जीवन की धरोहर हैं।

(2) मुहावरों के अर्थ को प्रकट करने में क्रिया पद का महत्वपूर्ण योगदान होता है।

(3) मुहावरे पूर्ण वाक्य नहीं होते।


प्रश्न . पारिभाषिक शब्द की मुख्य तीन विशेषताएँ बताइए।

उत्तर- इसकी निम्न विशेषताएँ हैं

(1) पारिभाषिक शब्द का अर्थ स्पष्ट और सुनिश्चित होता है। जैसे- वेतनमान, नियोक्ता आदि।

(2) पारिभाषिक शब्द छोटा होता है, यथा- तदर्थ, लिपिक आदि।

(3) इसमें नए शब्द बनाने की क्षमता होती है, जैसे विधान से संविधान, वैधानिक, विधानसभा आदि शब्द बने हैं।


प्रश्न . पूर्णपारिभाषिक शब्द किसे कहते हैं?

उत्तर- ऐसे शब्द जो पूर्णतः पारिभाषिक अर्थ देते हैं तथा इनका प्रयोग सामान्य अर्थ में नहीं होता, उन्हें पूर्ण पारिभाषिक शब्द कहते हैं। यथा- रस निष्पत्ति, राजयक्ष्मा, जमानता आदि।

 
प्रश्न . अर्द्धपारिभाषिक शब्द की परिभाषा दीजिए।

उत्तर- ऐसे शब्द जो कभी पारिभाषिक, शब्द के रूप में प्रयुक्त होते हैं तथा कभी सामान्य रूप में, उन्हें अर्द्ध पारिभाषिक शब्द कहते हैं। यथा- क्रिया व्याकरण का

Also Read....


हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-01

 हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-02

 हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-03

 हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-05

 हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-06

 हिन्दी व्याकरण प्रश्न उत्तर Part 07

 हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-08

 हिन्दी 3 मार्कर प्रश्न उत्तर  Part-09

हिन्दी व्याकरण 

सामान्य अध्ययन द्वितीय प्रश्न पत्र 2017 खंड A

मध्य प्रदेश की वन सम्पदा 

मध्य प्रदेश सम्पूर्ण अध्ययन 

मध्य प्रदेश वन लाइनर जीके 

मध्य प्रदेश प्रश्न उत्तर 

MPPSC Pre Study Material

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.