बाल दिवस 2021 : बाल दिवस 14 नवंबर | अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर | Children Day 2021

बाल दिवस 2021 : बाल दिवस 14 नवंबर

बाल दिवस 2021 : बाल दिवस 14 नवंबर | अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर | Children Day 2021

 

बाल दिवस भारत में 14 नवंबरको मनाया जाता है -


  • भारत में प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन, 14 नवंबर, को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. 


  • भारत में पंडित जवाहरलाल नेहरू के निधन से पहले 20 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता था, लेकिन 27 मई 1964 को पंडित जवाहर लाल नेहरु के निधन के बाद बच्चों के प्रति उनके प्यार को देखते हुए सर्वसम्मति से यह फैसला हुआ कि अब से हर साल 14 नवंबर को चाचा नेहरू के जन्मदिवस पर बाल दिवस मनाया जाएगा, जिसके बाद से ही हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाने लगा.

अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर (World Children's Day):


  • अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस विश्व में बच्चों के अधिकारों के प्रति जागरूकता और कल्याण के लिये 20 नवंबर को मनाया जाता है। यह सबसे पहले वर्ष 1954 में मनाया गया था।
  • इसी तिथि पर वर्ष 1989 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा बाल अधिकारों के लिये अभिसमय अपनाया गया था।

बाल दिवस - पंडित जवाहरलाल नेहरू का जीवन परिचय 

 

  • पंडित नेहरू का जन्म 14 नवम्बर 1889 को इलाहाबाद में हुआ था। इनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरू तथा माता का नाम स्वरूपरानी था। आपका संबंध कश्मीरी ब्राह्मण परिवार से था। लेकिन वे इलाहाबाद आ जाते है। उनका बचपन आनंद भवन में विलासिता पूर्ण एवं कुलीन तरीके से व्यतीत होता हैं पिता के पेशे से वकील होने और भारत की राजनीति में सक्रिय भागीदारी के कारण उनके परिवार की प्रतिष्ठा सम्पूर्ण भारतवर्ष में थी। इन्हें प्राम्भिक शिक्षा एक योरोपीय शिक्षक के द्वारा घर पर ही दी गयी।  

  • इसके पश्चात् 15 वर्ष की आयु में शिक्षा ग्रहण करने ब्रिटेन चले जाते है। वहां उन्हें इटली के महापुरूष गैरीबाल्डी के पास पढ़ने का मौका मिलता है। इसके अलावा उन्हें स्वतन्त्रता, समाजवाद, फ्रांस की राज्य क्रांति एवं अनेक राजनीतिक चिन्तकों के विचारों को जानने का एक सुअवसर प्राप्त होता है। इसका प्रभाव यह पड़ता है कि भारत लौटने पर और संविधान निर्माण में उनके विचारों को सम्मानजनक दर्जा दिया जाता है।  

  • 1907 में वे विधि की शिक्षा प्राप्त करने के लिए पुनः ब्रिटेन जाते है। सन् 1912 में बैरिस्टरी की उपाधि लेकर भारत लौटते है। इनका विवाह 26 वर्ष की आयु में कमला कौर के साथ होता है।  

  • पंडित नेहरू को राजनीति विरासत में मिली हुई थी, क्योंकि उनके पिता कांग्रेस की गतिविधियों में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे थे। उनका राजनीति में विधिवत् प्रवेश 1912 में कांग्रेस के बाकीमपुर अधिवेशन में होता है।  

  • धीरे-धीरे मदनमोहन मालवीय द्वारा संचालित किसान आंदोलन में हिस्सा लेते है। इसके पश्चात् पंडित जी कांग्रेस की राजनीति में इस प्रकार छा जाते है कि मानो कांग्रेस की आधार शिला है। राष्ट्रीय आन्दोलन को दिशा प्रदान करने में भारतीय आजादी की लड़ाई के लिए विश्व जनमत तैयार करने के लिए अनेक देशों की यात्राएं की। 1929 के लाहौर अधिवेशन में पहली बार अध्यक्ष बने। 

 

  • आजादी के पश्चात् बनने वाली प्रथम सरकार में उन्हें भारत का प्रधानमंत्री बनने का सौभाग्य होता है। इस पद पर वे अपने जीवन के अंतिम समय तक रहते है। इस दौरान उन्होनें भारत को सभी क्षेत्रों में सशक्त बनाने और भारत में व्याप्त समस्याओं का समाधान करने की हर सम्भव कोशिश करते हैं, लेकिन 27 मई 1964 को नेहरू जी का स्वर्गवास हो जाता है।

 

अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर (World Children's Day):

  • अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस विश्व में बच्चों के अधिकारों के प्रति जागरूकता और कल्याण के लिये 20 नवंबर को मनाया जाता है। यह सबसे पहले वर्ष 1954 में मनाया गया था।
  • इसी तिथि पर वर्ष 1989 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा बाल अधिकारों के लिये अभिसमय अपनाया गया था।

 

विश्व बाल श्रम निषेध दिवस 12 जून

  • प्रत्येक वर्ष विश्व भर में 12 जून को विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • यह दिन मुख्य रूप से बच्चों के विकास पर केंद्रित है और यह बच्चों के लिए शिक्षा और गरिमापूर्ण जीवन के अधिकार की रक्षा करता है।
  • विश्व बाल श्रम निषेध दिवस को मनाए जाने का उद्देश्य लोगों को 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से श्रम न कराकर उन्हें शिक्षा दिलाने के लिए जागरूक करना है।
  • इसके अलावा, इस दिवस को मनाने का मक़सद बच्चों के अधिकारों की सुरक्षा की ज़रूरत को उजागर करना और बाल श्रम व अलग - अलग रूपों में बच्चों के मौलिक अधिकारों के उल्लंघनों को ख़त्म करना है।
  • विश्व बाल श्रम निषेध दिवस की शुरुआत साल 2002 में इंटरनेशनल लेबर आर्गेनाईजेशनद्वारा की गई थी।
  • इंटरनेशनल लेबर ऑर्गनाइजेशन (ILO) के अनुसार, विश्व भर में 5 से 17 साल की उम्र तक के कई बच्चे ऐसे काम में लगे हुए हैं जो उन्हें सामान्य बचपन से वंचित करते हैं, जैसे कि पर्याप्त शिक्षा, उचित स्वास्थ्य देखभाल, अवकाश का समय, बुनियादी स्वतंत्रता इत्यादि।
  • उल्लेखनीय है कि बाल श्रम पर अंकुश लगाने के लिए वैश्विक स्तर पर कई संगठन प्रयास कर रहे हैं।

Related Topic.... 

समाजवाद सम्बन्धी नेहरू जी के विचार

पंडित नेहरू एक राजनीतिक विचारक सामान्य परिचय

पंडित जवाहरलाल नेहरू के लोकतांत्रिक समाजवाद के सम्बन्धित विचार

नेहरू के राष्ट्रवाद संबंधी विचार

विश्व समुदाय को पंडित जवाहरलाल नेहरू का योगदान 

जवाहर लाल नेहरू का योगदान

बाल दिवस 2021 : बाल दिवस 14 नवंबर  अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस 20 नवंबर

पं० जवाहर लाल नेहरू का जीवन परिचय

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.