दिसम्बर के महत्वपूर्ण दिवस List of Important Day in December

 दिसम्बर के महत्वपूर्ण दिवस 

List of Important Day in December

List of Important Day in December

इस आर्टिकल में दिसम्बर माह में मनाए जाने वाले महत्वपूर्ण दिवस को शामिल किया गया है। सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में महत्वपूर्ण दिवस से संबन्धित एक प्रश्न अवश्य आता है , इसलिए प्रतियोगी इस आर्टिकल में दिये गए महत्वपूर्ण दिवस का ध्यान पूर्वक अध्ययन करें 

दिसम्बर माह दिवस सूची



दिनांक  दिवस 
1 दिसम्बर विश्व एड्स दिवस
2 दिसंबर गुलामी के उन्मूलन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस
दिसंबर  विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस
3 दिसम्बर विकलांग व्यक्तियों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस
4 दिसम्बर  भारतीय नौसेना दिवस
5 दिसम्बर विश्व मृदा दिवस
अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस
7 दिसम्बर अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस
भारतीय सशस्त्र बल झंडा दिवस
9 दिसम्बर अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक दिवस
10 दिसम्बर  मानव अधिकार दिवस 
11 दिसम्बर अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस
12 दिसम्बर यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज डे
तटस्थता का अंतर्राष्ट्रीय दिवस
14 दिसम्बर राष्ट्रीय ऊर्जा वार्तालाप दिवस
16 दिसम्बर विजय दिवस 
18 दिसम्बर अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी दिवस
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक अधिकार दिवस 
20 दिसम्बर  अंतर्राष्ट्रीय मानव एकजुटता दिवस
22 दिसम्बर राष्ट्रीय गणित दिवस
23 दिसम्बर किसान दिवस
24 दिसम्बर राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस
25 दिसम्बर सुशासन दिवस

अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस 07 दिसंबर

  • वैश्विक स्तर पर हवाई यात्रा में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (ICAO) की भूमिका और महत्त्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 07 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस का आयोजन किया जाता है।
  • इस दिवस का आयोजन विभिन्न देशों के सामाजिक और आर्थिक विकास में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन के महत्त्व को रेखांकित करने हेतु किया जाता है।
  • अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस का आयोजन सर्वप्रथम वर्ष 1994 में किया गया था। 
  • 7 दिसंबर, 1944 को शिकागो में अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संबंधी अभिसमय/कन्वेंशन पर हस्ताक्षर किये गए थे।
  • यद्यपि इस दिवस की शुरुआत वर्ष 1994 में हुई थी, किंतु संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 7 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन दिवस के रूप में आधिकारिक मान्यता वर्ष 1996 में दी गई थी। 
  • अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (ICAO) संयुक्त राष्ट्र की एक विशिष्ट एजेंसी है, जिसकी स्थापना वर्ष 1944 में हुई थी और इसका प्राथमिक उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय हवाई परिवहन के विकास को बढ़ावा देना है। वर्तमान में भारत समेत इसके कुल 193 देश सदस्य हैं।

अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक दिवस 9 दिसंबर

  • भ्रष्टाचार के उन्मूलन और भ्रष्टाचार को कम करने के लिये आवश्यक उपायों के बारे में जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से प्रत्येक वर्ष 9 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक दिवस का आयोजन किया जाता है। 
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 31 अक्तूबर, 2003 को भ्रष्टाचार के विरुद्ध संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन (यूनाइटेड नेशंस कन्वेंशन अगेंस्ट करप्शन) को अपनाया था। 
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा इसी कन्वेंशन के तहत यह निर्धारित किया गया था कि विश्व भर में प्रत्येक वर्ष 09 दिसंबर को भ्रष्टाचार के प्रति जागरूकता बढ़ाने और इससे रोकने में कन्वेंशन की भूमिका को रेखांकित करने के लिये अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक दिवस मनाया जाएगा। यह कन्वेंशन दिसंबर 2005 में लागू हुआ था। 

मानवाधिकार दिवस 10 दिसंबर 

  • विश्व भर में लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 10 दिसंबर को मानवाधिकार दिवस का आयोजन किया जाता है।
  • इस दिवस के आयोजन का प्राथमिक उद्देश्य एक आदर्श विश्व के निर्माण में मानवधिकारों के महत्त्व को रेखांकित करना है। 
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 10 दिसंबर, 1948 को पेरिस में मानवाधिकारों की सार्वभौम घोषणा (Universal Declaration of Human Rights-UDHR) को अपनाया था, जो कि मानवाधिकारों की रक्षा की दिशा में एक ऐतिहासिक और महत्त्वपूर्ण दस्तावेज़ है। 
  • वर्ष 2020 के लिये इस दिवस की थीम रिकवर बेटर- स्टैंड अप फॉर ह्यूमन राइट्सहै। 
  • वर्ष 2020 में मानवाधिकार दिवस इस लिहाज़ से काफी महत्त्वपूर्ण है कि कोरोना वायरस संकट के कारण गरीबी, असमानता और मानवाधिकारों के उल्लंघन की दिशा में हो रहे प्रयासों पर गहरा प्रभाव पड़ा है।

अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस 11 दिसंबर

  • प्रतिवर्ष विश्व भर में 11 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस’ (International Mountain Day) मनाया जाता है।
  • इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को पर्वतीय क्षेत्र के सतत् विकास के महत्त्व के बारे में जानने और पर्वतीय क्षेत्र के प्रति दायित्वों के लिये जागरूक करना है। 
  • यह दिवस पहाड़ों में सतत् विकास को प्रोत्साहित करने के लिये वर्ष 2003 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा स्थापित किया गया था।
  • संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के मुताबिक, विश्व के तकरीबन 15 प्रतिशत लोग पर्वतों पर निवास करते हैं और विश्व के लगभग आधे जैव विविधता वाले हॉटस्पॉट पर्वतों पर मौजूद हैं।
  • पर्वत पृथ्वी की सतह का तकरीबन 27 प्रतिशत भाग कवर करते हैं। पर्वत न केवल आम लोगों के दैनिक जीवन के लिये आवश्यक हैं, बल्कि सतत् विकास की दृष्टि से भी इनका काफी महत्त्व है।

यूनिसेफ दिवस 11 दिसंबर

  • बाल विकास और बाल अधिकारों के संरक्षण की दिशा में यूनिसेफ (UNICEF) के अतुलनीय योगदान को रेखांकित करने हेतु प्रतिवर्ष 11 दिसंबर को यूनिसेफ दिवस का आयोजन किया जाता है। 
  • वर्ष 2020 में संयुक्त राष्ट्र की इस स्थायी संस्था ने अपनी स्थापना के 74 वर्ष पूरे कर लिये हैं। 
  • यूनिसेफ का गठन संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 11 दिसंबर, 1946 को संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय बाल आपातकालीन कोष’ (UNICEF) के रूप में किया गया था। 
  • इसकी स्थापना मुख्य तौर पर द्वितीय विश्व युद्ध के बाद बच्चों और माताओं के स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा और सामान्य कल्याण में सुधार आदि के उद्देश्य से की गई थी। 
  • वर्ष 1953 में यह संयुक्त राष्ट्र का एक स्थायी हिस्सा बन गया और अंतर्राष्ट्रीयएवं आपातकालीनशब्दों को हटाकर इस संगठन का नाम संयुक्त राष्ट्र बाल कोषकर दिया गया, हालाँकि इसके मूल संक्षिप्त नाम यूनिसेफ’ (UNICEF) को बरकरार रखा गया। 
  • वर्तमान में यूनिसेफ विश्व के 190 से अधिक देशों में कार्य करता है, जिसका उद्देश्य बच्चों के जीवन को बचाना, उनके अधिकारों का संरक्षण और क्षमता निर्णय में उनकी मदद करना है। 
  • यूनिसेफ को वर्ष 1965 में नोबेल शांति पुरस्कार, वर्ष 1989 में इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार और वर्ष 2006 में प्रिंस ऑफ अस्तुरियस अवॉर्ड मिला था।

राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस 14 दिसंबर

  • भारत में प्रतिवर्ष 14 दिसंबर को राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस मनाया जाता है। 
  • इस दिवस के आयोजन का प्राथमिक उद्देश्य ऊर्जा संसाधनों के संरक्षण की दिशा में प्रयासों को बढ़ावा देते हुए आम लोगों को ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के खतरों के प्रति जागरूक बनाना है। 
  • राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिवर्ष इस दिवस का आयोजन ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (BEE) द्वारा किया जाता है। भारत सरकार ने ऊर्जा संरक्षण अधिनियम, 2001 के तहत 1 मार्च, 2002 को ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (BEE) की स्थापना की थी। 
  • यह एक सांविधिक निकाय है, जो कि ऐसी नीतियों और रणनीतियों के विकास में सहायता प्रदान करता है जिनका प्रमुख उद्देश्य भारतीय अर्थव्यवस्था में ऊर्जा की गहनता को कम करना है। 

विजय दिवस Vijay Diwas 16 दिसंबर

  • वर्ष 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की विजय की स्मृति में प्रतिवर्ष 16 दिसंबर को विजय दिवस (Vijay Diwas) मनाया जाता है।
  • वर्ष 2020 में विजय दिवस के 50 वर्ष पूरे हो गए हैं और सरकार इस अवसर को मनाने के लिये स्वर्णिम विजय वर्षकार्यक्रम का आयोजन कर रही है।
  • राष्ट्रीय युद्ध स्मारक उन सभी सैनिकों को समर्पित है जिन्होंने आज़ादी के बाद देश की रक्षा के लिये अपना जीवन बलिदान कर दिया। साथ ही यह स्मारक उन सैनिकों को भी याद करता है जिन्होंने शांति अभियानों में बलिदान दिया।
  • भारत सरकार ने 3 दिसंबर, 1971 को बंगाली मुसलमानों और हिंदुओं की रक्षा के लिये पाकिस्तान के साथ युद्ध लड़ने का निर्णय लिया।
  •  यह युद्ध भारत और पाकिस्तान के मध्य 13 दिनों तक लड़ा गया था।
  • 16 दिसंबर, 1971 को पाकिस्तानी सेना के प्रमुख ने 93,000 सैनिकों के साथ  ढाका में भारतीय सेना जिसमें मुक्ति वाहिनी भी शामिल थी, के सामने बिना शर्त आत्मसमर्पण कर दिया था।
  • मुक्ति वाहिनी उन सशस्त्र संगठनों को संदर्भित करती है जो बांग्लादेश मुक्ति युद्ध के दौरान पाकिस्तान सेना के विरुद्ध लड़े थे। यह एक गुरिल्ला प्रतिरोध आंदोलन था।
  • इसी दिन बांग्लादेश की उत्पत्ति हुई थी। इसलिये बांग्लादेश प्रत्येक वर्ष 16 दिसंबर को स्वतंत्रता दिवस (बिजोय डिबोस) मनाता है। 

गोवा मुक्ति दिवस 19 दिसंबर 

  • गोवा में 450 वर्षों के पुर्तगाली शासन की समाप्ति को चिह्नित करने के लिये प्रतिवर्ष 19 दिसंबर को गोवा मुक्ति दिवस मनाया जाता है। 
  • पुर्तगालियों ने वर्ष 1510 में भारत के कई हिस्सों को अपना उपनिवेश बनाया था, किंतु 19वीं शताब्दी के अंत तक भारत में पुर्तगाली उपनिवेश केवल गोवा, दमन और दीव, दादरा एवं नगर हवेली और अंजेडिवा द्वीप तक ही सीमित रह गया। गोवा मुक्ति आंदोलन, जिसके तहत पुर्तगाली औपनिवेशिक शासन को समाप्त करने की मांग की गई थी, काफी छोटे स्तर पर एक विद्रोह के साथ शुरू हुआ, किंतु वर्ष 1940-1960 के बीच यह अपने चरम पर पहुँच गया। 
  • 15 अगस्त, 1947 को जब भारत आज़ाद हुआ, तब भी गोवा पुर्तगाली शासन के अधीन था। पुर्तगाली शासकों ने गोवा और अन्य भारतीय क्षेत्रों को छोड़ने से इनकार कर दिया था। 
  • पुर्तगाली शासकों के साथ तमाम वार्ताओं और कूटनीतिक प्रयासों की विफलता के बाद अंततः भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने सैन्य हस्तक्षेप का विकल्प चुना।
  • 18 दिसंबर को भारतीय नौसेना, वायु सेना एवं थल सेना द्वारा गोवा में सैन्य अभियान ऑपरेशन विजय' का संचालन किया गया और 19 दिसंबर, 1961 को गोवा को पुर्तगालियों चंगुल से मुक्त करा लिया गया।

राष्ट्रीय किसान दिवस 23 दिसंबर

  • समाज के विकास में किसानों के योगदान को रेखांकित करने के लिये भारत में प्रतिवर्ष 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस का आयोजन किया जाता है। 
  • भारत गाँवों का देश है, जहाँ की अधिकांश आबादी अपनी आजीविका के लिये प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष तौर पर कृषि पर निर्भर है। ऐसे में राष्ट्रीय किसान दिवस भारत के आम नागरिकों को किसानों की समस्याओं को जानने और उन पर वार्ता करने का अवसर प्रदान करता है। 
  • यह दिवस भारत के पाँचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के उपलक्ष में आयोजित किया जाता है। चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर, 1902 को उत्तर प्रदेश के हापुड़ ज़िले में हुआ था। 
  • प्रधानमंत्री के तौर पर चरण सिंह का कार्यकाल अल्प अवधि का रहा। वे दो बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने तथा केंद्र सरकार में भी कई मंत्री पदों पर कार्य किया, साथ ही महत्त्वपूर्ण पदों पर रहते हुए उन्होंने किसानों के कल्याण के लिये कई योजनाएँ लागू कीं, उन्हें उत्तर प्रदेश ज़मींदारी उन्मूलन अधिनियम का प्रधान वास्तुकार माना जाता है। 
  • चरण सिंह ने ज़मींदारी उन्मूलन, भूमि सुधार और किसानों को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने से संबंधित कई पुस्तकें भी लिखीं। 
  • किसानों के कल्याण में चौधरी चरण सिंह के योगदान को देखते हुए सरकार ने वर्ष 2001 में इस दिवस की शुरुआत की थी।

राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस 24 दिसंबर 

  • देश में उपभोक्ताओं के महत्त्व, उनके अधिकारों और दायित्त्वों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिये प्रतिवर्ष 24 दिसंबर को राष्ट्रीय उपभोक्ता दिवस मनाया जाता है। 
  • भारत की एक बड़ी आबादी अशिक्षित है, जो अपने अधिकारों एवं कर्त्तव्यों के प्रति अनभिज्ञ है, लेकिन उपभोक्ता अधिकारों के मामले में शिक्षित लोग भी अपने अधिकारों के प्रति उदासीन नज़र आते हैं। इसी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिये प्रतिवर्ष इस दिवस का आयोजन किया जाता है। 
  • वर्ष 1986 में इसी दिन राष्ट्रपति ने उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 को मंज़ूरी दी थी। उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम का प्राथमिक उद्देश्य उपभोक्ताओं को विभिन्न प्रकार के शोषण जैसे दोषयुक्त सामान, असंतोषजनक सेवाओं और अनुचित व्यापार प्रथाओं के विरुद्ध सुरक्षा प्रदान करना है। 
  • वर्ष 2020 के लिये इस दिवस का थीम सतत् उपभोक्ताहै। यह थीम वैश्विक स्वास्थ्य संकट, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता के नुकसान आदि से निपटने के लिये तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता को रेखांकित करती है। 
  • ज्ञात हो कि वैश्विक स्तर पर उपभोक्ता दिवस प्रतिवर्ष 15 मार्च को विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस का आयोजन किया जाता है।

सुशासन दिवस 25 दिसंबर

  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस के उपलक्ष्य में प्रतिवर्ष 25 दिसंबर को सुशासन दिवस मनाया जाता है। 
  • इस दिवस का उद्देश्य भारतीय नागरिकों खासतौर पर छात्रों, जो कि देश का भविष्य हैं, को सरकार के उत्तरदायित्वों और कर्तव्यों के बारे में जानने का अवसर प्रदान करना है।
  • 23 दिसंबर, 2014 को अटल बिहारी वाजपेयी और पंडित मदन मोहन मालवीय (मरणोपरांत) को भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। 
  • सुशासन दिवस सभी सरकारों के लिये एक अनुस्मारक के रूप में कार्य करता है कि सुशासन पूर्णतः निष्पक्ष, पारदर्शी और विकासोन्मुखी होना चाहिये। 
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर, 1924 को ग्वालियर में हुआ था। वाजपेयी जी ने अपना राजनीतिक जीवन स्वतंत्रता सेनानी के रूप में शुरू किया था।

अंतर्राष्ट्रीय महामारी तैयारी दिवस 27 दिसंबर

  • कोरोना वायरस महामारी ने संक्रामक रोग के प्रकोप का पता लगाने और उसकी रोकथाम संबंधी प्रणाली में निवेश के महत्त्व को रेखांकित किया है। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए 27 दिसंबर, 2020 को विश्व में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय महामारी तैयारी दिवस का आयोजन किया गया।
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अपने सभी सदस्य राष्ट्रों तथा अन्य वैश्विक संगठनों से किसी भी महामारी के विरुद्ध वैश्विक साझेदारी के महत्त्व की वकालत करने के लिये प्रतिवर्ष 27 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय महामारी तैयारी दिवस के रूप में चिह्नित करने का आह्वान किया है।
  • इस दिवस का प्राथमिक लक्ष्य महामारी के संबंध में जागरूकता फैलाना और इसकी रोकथाम के लिये अंतर्राष्ट्रीय साझेदारी के महत्त्व को रेखांकित करना है।

Also Read.....

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.