सोशल मीडिया का स्वरूप एवं प्रकार | Social Media Nature and Type

सोशल मीडिया का स्वरूप एवं प्रकार

सोशल मीडिया का स्वरूप एवं प्रकार

सोशल मीडिया का स्वरूप Nature of Social Media

सोाशल मीडिया का स्वरूप अन्य माध्यमों से बहुत अलग है। यह एक ऑनलाइन आधारित वेबसाइट है, जिसके माध्यम से जुड़कर आप सूचना प्रेषित एवं प्राप्त कर सकते हैं। इसके विभिन्न प्रकार हैं, जिन्हे भिन्न-भिन्न नामों जैसे ब्लॉगिंग, माइक्रोब्लागिंग, सोशल नेटवर्क आदि से जानते हैं।

सोशल मीडिया एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा आप देश-दुनिया के अनेक व्यक्तियों से ऑनलाइन तकनीक के माध्यम से जुड़ सकते हैं। यदि, सोशल नेटवर्किंग साइटों के स्वरूप की बात करें, तो इन साइटों की संरचना कुछ इस प्रकार होती है कि  इनके माध्यम से आप टेक्सट, ऑडियो विजुअल तीनों प्रकार के संदेश संप्रेषित कर सकते हैं। सोशल मीडिया में मैसेंजर की सुविधा भी होती है, जिसको द्वारा आप व्यक्तियों से चैटिंग कर सकते हैं।

साथ ही साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग  एवं आडियो कॉल जैसी सुविधाएं भी होती हैं प्रत्येक सोशल साइट अपनी अलग-अलग विशिष्टताओं के लिए जानी जाती है। कुछ सोशल साइटों पर आप सिर्फ कुछ निर्धारित शब्दों में ही अपनी बात कह सकते हैं, तो कुछ सोशल साइटों में आप तीनों प्रकार की संचार व्यवस्थाओं (टेक्स्ट, ऑडियो, वीडियो) को स्थापित कर सकते हैं।

सोशल मीडिया पर आप अपना एक पेज क्रिएट कर सकते हैं, जिसके माध्यम से आप अपने से संबंधित या अपने प्रोफेशन से संबंधित विशेष जानकारी को शेयर कर सकते हैं। साथ ही साथ विशेष प्रकार के सोशल मीडिया पेजों से जुड़ सकते हैं। सोशल मीडिया पर आप विशेष गु्रप भी बना सकते हैं, और विशेष उद्देश्य  या विषय से संबंधित किसी भी सूचना को एक साथ पूरे समूह को प्रेषित कर सकते हैं।

वर्तमान में सोशल मीडिया न्यूज, व्यूज, सूचना, मनोरंजन, मार्केटिंग एवं प्रमोशन का सुलभ उपकरण है जो व्यक्ति को सीधे तोर पर जुड़ने और जोड़ने का मंच प्रदान करती है।

सोशल मीडिया के प्रकार Type of Social Media

सोशल मीडिया के प्रकारों की बातें करें तो इन्हें विभिन्न प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है जो निम्न प्रकार है-

सोशल नेटवर्किंग साइट Social Networking Sites

सोशल नेटवर्किंग साइट में प्रयोगकर्ता पर्सनल प्रोफाइल पर लॉग इन के द्वारा सूचना सम्प्रेषण के कार्य कर सकते हैं। सोशल मीडिया में इन साइटों की लोकप्रियता सबसे अधिक है और अधिकतर लोक केवल इन साइटों को ही सोशल मीडिया मानते हैं।

माइक्रोब्लांगिंग एवं मैसेंजर साइटे भीं इन सोशल साइटों का हिस्सा हैं। एप आधारित तकनीक के विकास ने सोशल मीडिया में व्हाट्स-एप, हाइक, वी-चेट से अन्य एप्स ने सोशल नेटवर्किंग मैसेंजर्स को व्यक्तियों में लोकप्रिय बना दिया है। फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम, माईस्पेस, रिसर्चगेट, लिंक्ड-इन जैसी बहुत सी सोशल नेटवर्किंग साइटें व्यक्तियों को सोशल मीडिया से जोड़ रही हैं।

विकीपीडिया

  • विकिपीडिया की शुरूआत जनवरी 20012 में जिम्मी वेल्स एवं लेरी सेंगर द्वारा शुरू की गई थी।
  • विकीपीडिया से लगभग सभी लोग परिचित हो गए हैं। यह वेबसाइट वस्तुतः व्यक्तियों को कंटेंट को जोड़ने अथवा संपादित करने की सुविधा देती है विकीपीडि़या एक ऑनलाइन एनसाइक्लोपीडि़या है, जिसे यूजर्स ही अपडेट करते हैं।
  • विकिपीडिया अनेक भाषाओं में उपलब्ध एक फ्री एनसाइक्लोपीडिया है। जो एक गैर लाभकारी संस्था विकिमीडिया फाउंडेशन के सहयोग से चल रही है।
  • विकिपीडिया शब्द दो शब्दों विकि एवं पीडिया से लेकर बना है। जिसमें विकि का अर्थ एक तकनीक है यह एक हवाई शब्द है जिसका अर्थ है जल्दीऔर एनसाइक्लोपीडिया के पीडिया से मिलकर बना है।
  • विकिपीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसमें यूजर्स के द्वारा जानकारी अद्यतन की जाती है। इसमें कोई भी व्यक्ति रजिस्टर्ड कर जानकारी संपादित कर सकता है।

ब्लॉग्स

  1. ब्लाूग मूलतः ऑनलाइन डायरी या जर्नल्स होते हैं। ब्लॉग पर सामान्यतः आखिरी पोस्ट सबसे ऊपर दिखायी देती है, और ब्लांग पर यूजर्स ऑडियो-वीडियों टैक्सट, पिक्चर आदि पोस्ट कर सकते हैं। गूगल समेत कई कंपनियां ब्लांग पर विज्ञापन लगाने की सुविधा देती हैं और प्रयोगकर्ता इन विज्ञापनों के द्वारा पाठकों की संख्या के आधार पर कमाई कर सकते हैं।

पॉडकास्ट

  • पॉडकास्ट एक ऐसी ऑनलाइन प्रणाली है, जिसमें ऑडियों अथवा वीडियों फाइलें सामान्यतः सब्सक्रिप्सन द्वारा प्राप्त की जाती हैं। पॉडकास्ट के द्वारा ऑडियों या ऑडियो विजुअल सामग्री को कुछ विशेष साइटें संग्रहीतकरके रखती हैं प्रयोगकर्ता के अनुरोध पर वे इन्हें सब्सक्रिप्शन के द्वारा उपल्बध कराती है। आईट्यून, म्यूजिकबस, आदि साइटों के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही ऑडियों एवं ऑडियो विजुअल सामग्री पॉडकास्ट का मुख्य रूप हैं।

फोरम

  • फोरम वह कड़ी है, जो मुद्दों पर विचारों को आदान-प्रदान के लिए मंच उपलब्ध करवाता है। सोशल नेटवर्किंग के द्वारा इस तरह के मंच सृजित किए गए हैं जहां सिर्फ नए नए मुद्दों पर बहस होती है। सरल शब्दों में कहें तो ये ऑनलाइन बहस के अड्डे हैं। सामान्यतः इन फोरमों पर किसी विशेष अथवा समान अभिरूचि के मुद्दों पर बहस होती है।

सोशल मीडिया के लाभ

1. सोशल मीडिया के माध्यम से देश दुनिया की सूचनाएं आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं।

2. सोशल मीडिया सारी दुनिया के लोगों से जुड़ने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है।

3. सोशल मीडिया से कई प्रकार के रोजगार पैदा हो रहे हैं।

4. आम लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए सोशल मीडिया का प्रयोग किया जाता है।

सोशल मीडिया से हानि

1. सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह आसानी से फैलाई जाती है जिससे भीड़ द्वारा मार देने की घटना आम हो गई है।

2.  सोशल मीडिया का उपयोग कर सामाजिक और धार्मिक उन्माद फैलाया जा रहा है।

3. सोशल मीडिया पर किसी खास मकसद से राजनीतिक विचारधारा को प्रेरित कर सामाजिक उन्माद फैलाया जाता है।

4. फेक न्यूज बिना रोक टोक बनाये जाते हैं और साझा किये जाते हैं।

5. सोशल मीडिया के अधिक प्रयोग से उपयोगकर्ता के शारीरिक और मानसिक सवास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

6. सोशल मीडिया के माध्यम से लोग रोजगार तलाश करते हैं, जिससे वे आसानी से धोखधड़ी का शिकार हो जाते हैं।

7. साइबर अपराधों का खतरा बढ़ गया है।

8. सोशल मीडिया ने साइबर बुलिंग को बढ़ावा दिया है।

9. सोशल मीडिया पर युजर्स द्वारा अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा करने से गोपनीयता की कमी है और कई बार निजी डाटा चोरी होने की संभावना भी बनी रहती है।

Also Read ... 

सोशल मीडिया की अवधारणा

सोशल मीडिया की उत्पत्ति

सोशल मीडिया का क्रमिक विकास

प्रमुख सोशल नेटवर्किंग साइट्स और उनके संस्थापक 

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.