MP Tiger Report {मध्यप्रदेश बाघ गणना }

मध्यप्रदेश बाघ गणना
  • मध्य प्रदेश को पुनः मिला टाइगर स्टेट का दर्जा. 
  • मध्यप्रदेश ने एक बार फिर बाघ गणना में देश मे प्रथम स्थान पर रहा है. 
  • भारत में मध्यप्रदेश प्रथम बाघ गणना चक्र-2006 में 300 बाघों के साथ प्रथम स्थान पर आया था।
  • वर्ष 2018 में हुई चौथी बाघ गणना चक्र में भी प्रदेश ने अधिकतम बाघों की संख्या के साथ सर्वप्रथम स्थान हासिल किया है।
  • वर्ष 2004 से नवीन तकनीकों को उपयोग में लाते हुए वैज्ञानिक पद्धति से अखिल भारतीय बाघ गणना आरंभ की गयी।

गणना के देश एवं प्रदेश के अब तक के आंकड़ें इस प्रकार हैं:

गणना वर्ष
बाघों का राष्ट्रीय आंकड़ा
बाघों के मध्यप्रदेश के आंकड़े
2006
1411
300
2010
1706
257
2014
2226
308
2018
2967
526

  • देश में हर चार साल में बाघों की जनगणना की जाती है 
  • इससे पहले 2006, 2010 और 2014 में बाघों की गणना रिपोर्ट जारी की जा चुकी है। देश में बाघों के संरक्षण का यह काम राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण एनटीसीए की देखरेख में चल रहा है। 
  • वर्ष 2010 में रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में बाघ सम्मेलन में बाघों के संरक्षण के लिए हर साल अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। 
  • रिपोर्ट में बताया गया कि 2018 में बाघों की संख्या 2967 हो गई है 

किस राज्य में कितने बाघ मिले

बिहार : 31
उत्तराखंड: 442
उत्तर प्रदेश: 173
आंध्रप्रदेश: 48
तेलंगाना: 26
छत्तीसगढ़ : 19
झारखंड: 5
मध्यप्रदेश: 526
महाराष्ट्र: 312
ओडिशा: 28
राजस्थान: 69
गोवा : 3
कर्नाटक: 524
केरल: 190
तमिलनाडु: 264
अरुणाचल प्रदेश: 29
आसाम: 190

प्रोजेक्ट टाइगर (Project Tiger)

  • भारत सरकार ने 1973 में राष्ट्रीय पशु बाघ को संरक्षित करने के लिये 'प्रोजेक्ट टाइगरलॉन्च किया।
  • 'प्रोजेक्ट टाइगरपर्यावरणवन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की एक सतत केंद्र प्रायोजित योजना है जो नामित बाघ राज्यों में बाघ संरक्षण के लिये केंद्रीय सहायता प्रदान करती है।

 ग्लोबल टाइगर फोरम (Global Tiger Forum-GTF)

  • ग्लोबल टाइगर फोरम (GTF) बाघों की रक्षा के लिये इच्छुक देशों द्वारा स्थापित एकमात्र अंतर-सरकारी अंतरराष्ट्रीय निकाय है।
  • GTF दुनिया के 13 टाइगर रेंज के देशों में वितरित बाघों की शेष उप प्रजातियों को बचाने पर केंद्रित है।
  • GTF का गठन 1993 में नई दिल्लीभारत में बाघ संरक्षण पर आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी की सिफारिशों पर किया गया था।
  • फोरम की स्थापना के लिये टाइगर रेंज के देशों की पहली बैठक 1994 में हुई थीजिसमें भारत को अध्यक्ष चुना गया था और अंतरिम सचिवालय बनाने के लिये कहा गया था।
  • 1997 में, GTF एक स्वतंत्र संगठन बना।
  • इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

राष्ट्रीय संरक्षण प्राधिकरण
  • राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के तहत एक वैधानिक निकाय (Statutory Body) है।
  • वर्ष 2006 में वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम, 1972 के प्रावधानों में संशोधन कर बाघ संरक्षण प्राधिकरण की स्थापना की गई। प्राधिकरण की पहली बैठक नवंबर 2006 में हुई थी।

No comments

Powered by Blogger.