General Administration One liner GK {सामान्य प्रबंधन वन लाइनर }

सामान्य प्रबंधन वन लाइनर
  • दूसरे व्यक्तियों से कार्य कराने की युक्ति को प्रबंधन कहा जाता है।
  • वे सभी व्यक्ति जो कार्य पर लगे हुए हैं या कार्य करने योग्य हैं जनशक्ति कहलाते हैं।
  • वित्तीय विवरणों से निष्कर्ष निकालना एवं प्रबंधकीय उपयोग करना वित्तीय विवरण विश्लेषण कहलाता है।
  • विपणन अवधारणा का तर्क है कि उपभोक्ताओं को व्यापक रूप से उपलब्ध और सस्ते उत्पाद पंसद आयेंगे।
  • तकनीकी, मानव और वैचारिक ये तीनों प्रबंधको के आवश्यक कौशल है यह विचारधारा राबर्ट के. कल्ज द्वारा दी गई है।
  • लक्ष्यों को निर्धारित करना, मूल्यांकन करना, निष्पादन को पुरस्कृत करना , उद्देश्य आधारित प्रबंधन है।
  • सभी पक्षकारों को वास्तविक परिणामों से अवगत कराना लेखांकन का मुख्य उद्देश्य है।
  • प्रतिबिम्ब परीक्षण, स्थिति संबंधी परिक्षण और उद्देश्य सहित परीक्षण, व्यक्तिगत परीक्षण के प्रकार हैं।
  • विपणन की दृष्टि से वस्तु को उन सुविधाओं का पुलिंदा माना जा सकता है जो उपभोक्ता को प्रस्तुत की जा रही हैं। यह कथन डॉ. डाबर का है।
  • बाजार अवनति, बाजार परिपक्वता और बाजार परिचय एवं वृद्धि उत्पाद जीवन चक्र की अवस्थाएं हैं।
  • टाउसले, क्लार्क और प्रो. पाईल , विपणन की पुरानी विचारधारा के समर्थक थे।
  • ‘सभी उत्पादनों का एकमात्र अंतिम उद्देश्य है-उपभोग‘ यह कथन एडम स्मिथ का है।
  • अनुकूलतम पंूजी की सरंचना के गुण न्यूनतम जोखिम, अधिकतम लाभ और न्यूनतम निर्गमन हैं।
  • लाभदायकता, शोधन क्षमता और प्रबंधकीय निर्णय का मूल्यांकन वित्तीय विशलेषण का उद्देश्य है।
  • कार्यवाही के लिए पाठ्यक्रम, निर्णय लेने की प्रक्रिया का तीसरा चरण है।
  • वित्तीय प्रभावन पूंजी के लिए पूंजी के ऋण स्त्रोत का उपयोग किया जाता है।
  • व्यवसाय की कुल चालू परिसंपति में निवेशित पूंजी की आवश्यकता का सही अनुमान लगाना, सकल कार्यशील पूंजी है।
  • नियोजन प्रबंधन का प्रथम कार्य एवं नियंत्रण अंतिम कार्य है।
  • व्यक्तिगत अवलोकन एक प्रकार का नियंत्रण का रूप है।
  • मानसिक क्रांति के लिए प्रबंधकों एवं कर्मचारियों के मानसिक दृष्टिकोण में परिवर्तन लाना आवश्यक है।
  • कार्मिक प्रबंधन ने मानव संसाधन प्रबंधन का स्थान लिया है।
  • स्टॉक किए गए माल के आकार व प्रतिशत को इन्वेंटरी प्रबंधन मुख्य रूप से दर्शाता है।
  • भारत में लेखा मानक, लेखांकन नीतियों का प्रकटीकरण की व्याख्या करता है।
  • कार्य के लिए आयोग्य आवेदकों की छटनी के लिलए साक्षात्कार के प्रारंभिक माध्यम का उपयोग किया जाता है।
  • चयन प्रक्रिया का अंतिम चरण प्रत्यादेश होता है।
  • सर्वप्रथम ओलिवर एवं शैल्डन ने प्रबंधन एवं प्रशासन में अंतर स्पष्ट किया था।
  • एक उपक्रम के मानवीय तत्वों को विकसित व प्रतिबंधित करने की प्रक्रिया मानव संसाठन प्रबंधन कहलाती है।
  • ‘‘मानव संसाधन प्रबंधन, प्रबंधन नीतियां प्रक्रियाओं व कार्यवाहियों का एक विशिष्ट क्षेत्र है जिसके अंतर्गत एक कार्य संगठन में व्यक्तियों का प्रबंधन शामिल होता है‘‘ यह कथन कैथ सूसन का है।
  • तिथि विशेष पर व्यावसाय की संपत्तियों एवं दायित्वों का प्रदर्शन करना वित्तीय विवरण ( स्थित विवरण) कहलाता है।
  • पूंजी व लाभांश भुगतान का पूर्वाधिकार रखने वाले का अधिमान अंशधारी कहते हैं।
  • जब एक प्रबंधक बाहर की दुनिया को संगठन के बारे में जानकारी देता है तो वह प्रवक्ता कहलाता है।
  • अभिप्रेरणा दो प्रकार की होती है एक मौद्रिक और दूसरी अमौद्रिक।
  • किसी नियोक्ता के द्वारा कर्मचारियों को बोनस देना मौद्रिक अभिप्रेरणा का भाग है।
  • बंधपत्र, डिबेंचर, और आवधिक कर्ज, दीर्घकालीन लेनदारियों के अंतर्गत आते हैं।
  • दोहरी लेखा प्रणाली वैज्ञानिक पद्धति की लेखांकन पद्धति है।
  • जॉन और स्टोरी ने मानव संसाधन प्रबंधन को 4 भागों में वर्गीकृत किया है।
  • संघर्ष प्रक्रिया में संघर्ष व्यवहार में दृष्टिगोचर होता है।
  • शक्ति का एक ही केन्द्र में स्थापित होना केन्द्रीकरण कहलाता है।
  • प्रत्येक परियोजना का प्रतिफल की आपेक्षित दर की उपेक्षा करना पूंजीगत बजट का उद्देश्य होता है।
  • चैक एक प्रकार का विनिमय पत्र है।
  • ‘वस्तु की प्रकृति‘ विपणन निर्णयों को प्रभावित करने वाला बाह्य घटक है।
  • मैनेजमेंट इन इंडिस्ट्रियल वर्ल्ड नामक पुस्तक हर्बिन्सन द्वारा लिखी गई है।
  • ‘प्रबंध यह जानने की कला है कि क्या करना है तथा उसे करने का सर्वोत्तम एवं सुलभ तरीका क्या है।‘‘ यह कथन एफ.डब्ल्यू. टेलर का है।
  • मनावैज्ञानिक परीक्षण उन व्यक्तियों का किया जाता है जिन्हें एक ही प्रकार का कार्य बार बार करना पड़ता है।
  • प्रतिबल साक्षात्कर कर पता लगाया जाता है कि आवेदक दबाव में कैसा प्रदर्शन करता है।
  • मूल्य हास स्थायी संपत्तियों में प्रतिवर्ष लगाया जाता है।
  • जब आय व्यय से अधिक हो तब व्यवसाय में लाभ होता है।
  • न्यूनतम मजदूरी अधिनियम वर्ष 1947 में पारित किया गया था।
  • लेखांकन पुस्तपालन की उत्तरवर्ती क्रिया है।
  • खाता-बाही खातों का समूह है।
  • जब प्रबंधन में प्रकार्य उनके तार्किक अनुक्रम में रखे जाते है तब इसे प्रबंधन प्रक्रिया कहा जाता है।
  • बंदरगाह श्रमिक रोजगार अधिनियम वर्ष 1948 में पारित हुआ था।
  • कार्य संबंधी ज्ञान व कौशल विकास करना, कर्मचारियों क कार्यक्षमता में वृद्धि करना प्रशिक्षण का कार्य है।
  • वास्तविक उत्पादन लागत से कम दाम पर माल को निर्यात करना अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में डंपिग कहलाता है।
  • विपणन प्रक्रिया के पॉच चरण होते हैं।
  • बाजार के लिए नीतियां बनाना, बाजार का मूल्यांकन करना, नए उत्पादों पर नजर रखा विपणन पर्यावरण को संदर्भित करता है।
  • श्रम संघ, पेशेवर संस्थाएं और संगठन की संस्कति मानव प्रबंधन की आंतरिक चुनौतियां हैं।
  • विपणन के उपयुक्त चैनल का चयन करना ब्रिकी प्रबंधन का एक सामान्य उद्देश्य है।
  • फार्म में भरी गई ग्राहाकों की प्रतिक्रिया बाहरी सूचना के अंतर्गत आती है।
  • आर्थिक, वैधानिक, प्रोद्योगिकी और राजनैतिक गतिविधियां मानव प्रबंधन की बाहरी चुनौतियां हैं।
  • ‘विशिष्टीकरण एवं कुशलता ही संगठन का ढांचा निर्धारित कर रही है‘ यह दर्शाता है कि मानव संसाधन में पंरपरागत सिद्धांत बाहर हो रहे हैं।
  • रोजनामचे एवं अन्य सहायक पुस्तकों से खाताबही में प्रविष्टियों करने की प्रक्रिया खतौनी कहलाती है।
  • किसी कर्मचारी के कार्य की प्रशंसा करना तथा पुरस्कार देना अभिप्रेरणा कहलाता है।
  • स्थिर लागत पर ऋण कोषों का प्रयोग करना समता का व्यापार कहलाता है।
  • टेलर ने कहा था कि ‘ बजट एक निश्चित अवधि के लिए सरकार की वित्तीय योजना है।‘
  • विधायिका, कार्यपालिका, वित्त विभाग, लेखा-परीक्षण विभाग और संसदीय समितियां वित्त प्रशासन के अभिकरण हैं।
  • पोस्डकार्ब सिद्धांत का प्रतिपादन लूथर गुलिक द्वारा किया गया था।
  • जब ऋण पूंजी अंश पूंजी के बराबर हो तो शून्य समता पर व्यापार कहलाता है।
  • ‘विचारधारा का मस्तिष्क जटिल व प्रत्यक्ष दर्पण है, यह एक ऐसा प्रयोग है जिससे मानसिक विचार शब्दों के रूप में ढालकर सम्मुख आते हैं।‘‘ यह कथन जार्ज होउस्टन का है।
  • जो संस्थाएं अपने ग्राहकों में अंतर नहीं करती और अपना एक विपणन कार्यक्रम अपनाती हैं विपणन मूलनीति की भेदभावहीन विपणन नीति के अंतर्गत आता है।
  • मध्य स्तर के प्रबंधक प्रभागीय उद्देश्यों के लिए चितिंत होते हैं।
  • वे निर्माता जो सभी बाजारों में एक साथ पहुंचना पसंद नहीं करते हैं वे केन्द्रित विपणन नीति का अनुसरण करते हैं।
  • संगठन में लाइन, स्टाफ और प्रकार्यात्मक, प्राधिकरण के तीन मुख्य प्रकार होते हैं।
  • बाजार को उपबाजारों में बांटना बाजार विभक्तिकरण कहलाता है।
  • क्षैतिज अथवा समतल विश्लेषण और शीर्ष अथवा लंबवत विश्लेषण वित्तीय विवरण की दो विधियां हैं।
  • विज्ञापन रणनीति बिक्री प्रबंधन का हिस्सा है।
  • कर्मचारी चयन, कर्मचारी पारिश्रमिक, कर्मचारी प्रेरणा, स्वास्थ्य और कर्मचारियों की सुरक्षा, औद्योगिक संबंध, मानव संसाधन विकास मंत्री आदि मानव संसाधन प्रबंधन के कार्यक्षेत्र में आते हैं।
  • वह धनराशि जो नियमित रूप से कंपनी के शेयरधाराकों को नगद या शेयर के रूप में भुगतान की जाती है लाभांश कहलाती है।
  • मनुष्य का व्यवहार सीखी हुई प्रेरणा से प्रभावित होता है, इस मान्यता पर आधारित मॉडल का नाम पैवलोवियन मॉडल है।

No comments

Powered by Blogger.