पत्रकारों का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन {International Consortium of Investigative Journalist}

पत्रकारों का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन 

{International Consortium of Investigative Journalist}

कौन है (ICIJ)?
International Consortium of Investigative Journalist

  • (ICIJ)  खोजी पत्रकारों का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है।
  • इस संगठन में 70 देशों के100  से अधिक मीडिया संस्थान जुड़े हैं।
  • इसे वर्ष 1997 में अमेरिकी पत्रकार चुक लेवाइस ने सीमापारीय अपराध, भ्रष्टाचार, राजनीतिक कदाचार आदि पर खोज करने के उद्देश्य से स्थापित किया था। 
  • इसका मुख्यालय वाशिगटन डीसी में है। यह संस्थान विगत कई खुलासों हेतु भी जाना जाता है। वर्ष 2016 के पनामा पेपर्स खुलासे का विश्लेषण भी इसी संस्थान द्वारा किया गया था।


पिछले 7 वर्षों के 7 बड़े खुलासे
  1. पैराडाइज पेपर्स 2017
  2. बहामास 2016
  3. पनामा पेपर्स 2016
  4. स्विस लीक 2015
  5. लक्सम्बर्ग लीक  2015
  6. ऑफशोर लीक्स 2013
  7. विकिलीक्स 2010  

पैराडाइज पेपर्स
बरमूडा स्थित कानूनी सलाहकारी संस्था ऐपलबी (APLB) तथा सिंगापूर स्थित कॉपार्रेट सेवाएँ देने वाली  वाली संस्था एशियासिटी ट्रस्ट  के लीक दस्तावेजों को सम्मिलित रूप से पैराडाइज पेपर्स  की संज्ञा दी गई है।
कुछ संबंधित शब्दावलियां
काला धन
अवैध गतिविधियों से अर्जित  धन जिस पर कर का भुगतान नहीं किया जाता है, काला धन कहलाता है। कालेधन का कोर्इ  लेखाजोखा नहीं होता। कालेधन का लेन-देन या तो नकद या बियरर  शेयर बांडों में किया जाता है।
समानांतर अर्थ व्यवस्था
काला  अर्थव्यवस्था को समानांतर अर्थ व्यवस्था  भी कहा जाता है। यह नाम इसके वृहद आकार के दृष्टिगत दिया गया है।
कर स्वर्ग देश
कर स्वर्ग देश वे देश होते हैं, जहां कर के संदर्भ में अति उदार कानून होते हैं। यहां धन के स्वामित्व तथा धन के स्त्रोत  की गोपनीयता बनी रहती है तथा कर दर या तो शून्य या काफी कम होती है।
शेल कंपनी/ लेटर बॉक्स कंपनी
शेल कंपनी लेटर बॉक्स कंपनी होती है जो आम तौर पर तो सामान्य व्यापार कर रही होती है। परंतु वास्तव में वह एक खाली खोल की तरह होती है। यह केवल धन का प्रबंधन करती है। इसका प्रयोग स्वामित्व और धन स्त्रोत को छिपाने हेतु किया जाता है। इस कंपनी को लेटर बॉक्स कंपनी भी कहते हैं, क्योंकि यह कंपनी एक पते के अलावा कुछ भी नहीं होती है।
ऑफशोर फाइनेंशियल सेंटर
ऐसे वित्तीय केंद्र जो देश की सीमा से बाहर हों, ऑफशोर फाइनेंशियल सेंटर कहलाते हैं। इन्हें कर चोरों की पनाहगाह कहा जाता है। आमतौर पर ये छोटे द्वीपीय देशों में होते हैं। इनकी बैंकिंग गोपनीयता अच्छी होती है और लेन-देन पर लगने वाला कर बहुत कम होता है। यहां की वित्तीय सेवाओं को कानूनी मान्यता प्राप्त होती है।
बियरर शेयर बॉन्ड
बियरर शेयर बॉन्ड पर मालिकाना हक उसे धारित करने वाला का होता है, बियरर शेयर बॉन्ड कहलाते हैं।  चूंकि  इनके माध्यम से बड़ी राशि का हस्तांतरण गोपनाय रूप से किया जा सकता है इस कारण कालेधन के स्थानांतरण में इनका बहुत प्रयोग होता है।
मनी लांड्रिंग
मनी लांड्रिंग कालेधन को सफेद (वैध) बनाने की एक कला है। इसके तहत अवैध स्त्रोत से कमाए कालेधन को वैधता प्रदान की जाती है।
राउंड ट्रिपिंग
स्त्रोत देश का धन जब किसी विदेशी क्षेत्र से घूमकर FDI के रूप में पुन: स्त्रोत  देश में वापस आए, तो उसे राउंड ट्रिपिंग कहते हैं

No comments

Powered by Blogger.