भगवान बिरसा मुंडा कौन थे |जनजाति गौरव दिवस | Janjati Gaurav Divas

 भगवान बिरसा मुंडा कौन थे , जनजाति गौरव दिवस

भगवान बिरसा मुंडा कौन थे |जनजाति गौरव दिवस | Janjati Gaurav Divas



भगवान बिरसा मुंडा कौन थे Birsa Munda Kaun 

  • बिरसा मुंडा का जन्म 18 नवम्बर वर्ष 1875 में हुआ था। वे मुंडा जनजाति के थे। बिरसा का मानना था कि उन्हें भगवान ने लोगों की भलाई और उनके दुःख दूर करने के लिये भेजा है, इसलिये वे स्वयं को भगवान मानते थे। उन्हें अक्सर 'धरती अब्बा' (Dharti Abba) या जगत पिताके रूप में जाना जाता है।
  • वर्ष 1899-1900 में बिरसा मुंडा के नेतृत्व में हुआ मुंडा विद्रोह छोटा नागपुर (झारखंड) के क्षेत्र में सर्वाधिक चर्चित विद्रोह था। इसे मुंडा उलगुलान’ (विद्रोह) भी कहा जाता है। 
  • इस विद्रोह की शुरुआत मुंडा जनजाति की पारंपरिक व्यवस्था खूंटकटी की ज़मींदारी व्यवस्था में परिवर्तन के कारण हुई।
  • इस विद्रोह में महिलाओं की भूमिका भी उल्लेखनीय रही।
  • उन्होंने जनता को जागृत किया और ज़मींदारों एवं अंग्रेज़ों के खिलाफ विद्रोह किया।
  • उन्होंने अंग्रेज़ों को करों और साहूकारों को ऋण/ब्याज का भुगतान न करने के लिये जनता को संगठित किया। इस प्रकार उन्होंने ब्रिटिश शासन के अंत और झारखंड में मुंडा शासन (तत्कालीन बंगाल प्रेसीडेंसी क्षेत्र) की स्थापना के लिये विद्रोह का नेतृत्त्व किया।


बिरसा मुंडा ने दो सैन्य इकाइयों का गठन किया-

  • एक सैन्य प्रशिक्षण एवं सशस्त्र संघर्ष के लिये।
  • दूसरी प्रचार के लिये।


  • बिरसा मुंडा ने धर्म को राजनीति से जोड़ दिया और एक राजनीतिक-सैन्य संगठन बनाने के उद्देश्य से प्रचार करते हुए गाँवों की यात्रा की।
  • फरवरी 1900 में बिरसा मुंडा को सिंहभूम में गिरफ्तार कर राँची ज़ेल में डाल दिया गया जहाँ जून 1900 में उनकी मृत्यु हो गई।
  • आदिवासियों के खिलाफ शोषण एवं भेदभाव के विरुद्ध उनके संघर्ष के कारण ही वर्ष 1908 में छोटानागपुर काश्तकारी अधिनियम (Chotanagpur Tenancy Act) पारित किया गया, जिसने आदिवासी लोगों से गैर-आदिवासियों में भूमि के हस्तांतरण को प्रतिबंधित कर दिया।

जनजाति गौरव दिवस Janjatiya Gaurav Divas 2021

  • मध्य प्रदेश सरकार बिरसा मुंडा के जन्म दिवस को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मना रही है।
  • जनजातीय गौरव दिवस के मौके पर 15 नवंबर को प्रदेश के जनजातीय बहुल क्षेत्रों में विभिन्न् कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
  • अनूपपुर के पुष्पराजगढ़ में 10 नवंबर, मंडला में 11 नवंबर और धार जिले के कुक्षी में 12 नवंबर को संभाग स्तरीय कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे
  • बिरसा मुंडा जन्म दिवस पर भोपाल में जनजातीय महासम्मेलन आयोजित किया जाएगा ।
  • जनजाति गौरव दिवस के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शामिल होंगे । 

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.