MPPSC Mains Paper Four - 3 Maker Question with Answer | Year 2018

 MPPSC Mains Paper 4

3 Maker Question with Answer 

3 Maker Question with Answer  | Year 2018


लोकसेवा आयोग मुख्य परीक्षा चतुर्थ प्रश्न पत्र

वर्ष 2018 खंड अ

लघुउत्तरीय प्रश्न


प्रश्न 1- लोक प्रशासन में सत्यनिष्ठा का तात्यपर्य समझाइए ?

उत्तर- सार्वजनिक जिम्मेदारी एवं कर्तव्य के प्रति पूर्ण प्रतिबद्धता एवं ईमानदारी ही सत्यनिष्ठा है।


प्रश्न 2- लोक प्रशासन में लोकोपयोगी सेवा का आधार क्या है ?

उत्तर- न्यायपूर्ण सेवा वितरण, पारदर्शिता, सूचना, उत्तरदायित्व।


प्रश्न 3- नैतिक मार्गदर्शन के स्त्रोत के रूप में अंतरात्मा से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर- अंतरात्मा मानव क्रियाकलापों की नैतिकता को निर्धारित करती है जो किसी विशेष कार्य के संबंध में अच्छाई या बुराई का निर्णय देती है।


प्रश्न 4- बुद्ध के अनुसार तीन स्वर्णिम मार्ग क्या हैं? उल्लेख कीजिए ?

उत्तर-

  • प्रज्ञा
  • शील
  • समाधि

प्रश्न 5- गांधीजी द्वारा बताए गए ग्यारह वचनों में से किन्हीं 6 वचनों का उल्लेख कीजिए ?

उत्तर- सत्य, अहिंसा,  अस्तेय, अपरिग्रह, ब्रम्हचर्य, सशरीर श्रम, अस्वाद खाने पर नियंत्रण, अभय, सर्वधर्म समभाव, स्वदेशी, अस्पृश्यता निवारण


प्रश्न 6- निम्नलिखित पुस्तकों के लेखकों के नाम लिखिए ?

उत्तर-

  • रामचरितमानस - तुलसीदास
  • दि रिलीजन आफ मैन- रवीन्द्रनाथ टैगोर
  • द लाइफ डिवाइन- श्री दो अरविंदो

प्रश्न 7- ब्रम्हा समाज के दो संस्थापक कौन थे ?

उत्तर-

  • राजा राममोहन राय
  • देवेन्द्रनाथ टैगोर

प्रश्न 8- लोक सेवा में निष्पक्षताका अर्थ समझाइए ?

उत्तर-़़ निष्पक्षतान्याय का सिद्धांत है जिसके तहत निर्णय वस्तुनिष्ठ कसौटियों पर होने चाहिए न कि पक्षपातपूर्ण गलत कारणों से किसी एक पक्ष को अनुचित फायदा नहीं मिलना चाहिए ?


प्रश्न 9- आंतरिक मनोवृत्ति के निर्धारण के रूप में अभिरूचि का पारिभाषित कीजिए ?

उत्तर- किसी विशेष क्षेत्र में विशेष योग्यता को अभिरूचि करते हैं।

मनोवृत्ति जन्मजात न होकर ‘‘अर्जित‘‘ होती है। अभिरूचि के आधार पर मनोवृत्ति सकारात्मक या नकारात्मक हो सकती है।


प्रश्न 10- लोक सेवा में बुद्धिकी भूमिका को स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर- पर्यावरण को समझने, विवेकपूर्ण चिंतन करने तथा किसी चुनौती के सामने होने पर उपलब्ध संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करने की व्यापकता क्षमता ही बुद्धि है।


प्रश्न 11- मनोवृत्ति परिवर्तन में विश्वासका स्थान समझाइए ?

उत्तर- मनोवृत्ति जन्मजात न होकर अर्जित होती है। अगर व्यक्ति का किसी विशेष के प्रति विश्वास सकारात्मक होता है,  तो मनोवृत्ति भी सकारात्मक हो जाती है, वहीं यदि विश्वास नकारात्मक होता है तो मनोवृत्ति भी नकारात्मक हो जाती है।


प्रश्न 12- ‘सहिष्णुतासे आप क्या समझते हैं ?

उत्तर- सहिष्णुता का शाब्दिक अर्थ सहन करना है। सहिष्णुता दूसरों के प्रति आदर उदारताएवं समानता, सम्मान की भावना है।


प्रश्न 13-  लोक प्रशासन सामाजिक परिवर्तन का एक यंत्र है। इस कथन की व्याख्या कीजिए ?

उत्तर- सामाजिक कुरीतियों की समाप्ति हेतु जो कानून बनाए जाते हैं, उनका सफलतम क्रियान्वयन लोक प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किया जाता है। सामाजिक न्याय एवं कल्याण की नीति का पालन करते हुए लोक प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा समाज के अंतिम व्यक्ति का बहुमुखी विकास कर सामाजिक परिवर्तन की दिशा प्रदान करना ।


प्रश्न 14- अपनी भाषा में बेनामी सम्पत्ति का आशय स्पष्ट कीजिए?

उत्तर- बेनामी सम्पत्ति वह है जिसकी कीमत किसी और ने चुकाई हो किन्तु नाम किसी दूसरे व्यक्ति का हो। बेनामी सम्पत्ति चल या अचल सम्पत्ति या वित्तीय दस्तावेजों के तौर हो सकती है।


प्रश्न 15- सामान्य परिस्थितियों में सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के अंतर्गत लोक सूचना अधिकारी कितने दिनों में सूचना देने के लिए बाध्यकारी है ?

उत्तर- सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 के अनुसार किसी लोक सूचना अधिकारी को 30 दिनों में उसे सूचना देनी होगी, जिसने सूचना की मांग की हो।

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.