संस्मरण लेखक का नाम और उनकी रचना

 संस्मरण क्या है

Pramukh Sansmaran aur Lekhak


संस्मरण लेखक व्यक्तिगत अनुभव को भावप्रवणता के साथ इस रूप में प्रस्तुत करता है कि उसका चित्र उपस्थित हो जाता है। यह अनुभव काल्पनिक न होकर सत्यकथा होता है। इसके विश्वसनीय होने पर संदेह नहीं किया जा सकता। इसके द्वारा व्यक्ति विशेष के जीवन या किसी घटना के महत्त्वपूर्ण पक्ष को उद्घाटित करना लेखन का उद्देश्य होता है।

संस्मरण लेखक का नाम

 संस्मरण और संस्मरण-कार

S.No. रचना  संस्मरण लेखक
1. अनुमोदन का अंत (1905 ई.),
 सभा की सभ्यता (1907 ई.)
महावीर प्रसाद द्विवेदी
2. हरिऔध जी का संस्मरण बालमुकुंद गुप्त
3. शिकार (1936 ई.), बोलती प्रतिमा (1937 ई.),
 भाई जगन्नाथ, प्राणों का सौदा(1939 ई.)
 जंगल के जीव (1949 ई.)
श्रीराम शर्मा
4. लाल तारा (1938 ई.), माटी की मूरतें (1946 ई.),
गेहूँ और गुलाब (1950 ई.),
जंजीर और दीवारें (1955 ई.),
मील के पत्थर (1957 ई.)
रामवृक्ष बेनीपुरी
5. अतीत के चलचित्र (1941 ई.),
स्मृति की रेखाएँ (1947 ई.),
 पथ के साथी (1956 ई.),
क्षणदा (1957 ई.), स्मारिका (1971 ई.)
महादेवी वर्मा
6. तीस दिन : मालवीय जी के साथ (1942 ई.) रामनरेश त्रिपाठी
7. हमारे आराध्य (1952 ई.) बनारसीदास चतुर्वेदी
8. जिंदगी मुस्कराई (1953 ई.),
दीप जले शंख बजे (1959 ई.),
 माटी हो गई सोना (1959 ई.)
कन्हैयालाल मिश्र 'प्रभाकर'
9. ये और वे (1954 ई.) जैनेंद्र
10. बचपन की स्मृतियाँ (1955 ई.),
असहयोग के मेरे साथी (1956 ई.),
 जिनका मैं कृतज्ञ (1957 ई.)
राहुल सांकृत्यायन
11. मंटो : मेरा दुश्मन (1956 ई.),
ज्यादा अपनी कम परायी (1959 ई.)
'अश्क'
12. वट-पीपल (1961 ई.) 'दिनकर'
13. समय के पाँव (1962 ई.) माखन लाल चतुर्वेदी
14. नए-पुराने झरोखे (1962 ई.) 'बच्चन'
15. दस तस्वीरें (1963 ई.),
जिन्होंने जीना जाना (1971 ई.)
जगदीश चंद्र माथुर
16. वे दिन वे लोग (1965 ई.) शिवपूजन सहाय
17. कुछ शब्द : कुछ रेखाएँ (1965 ई.) विष्णु प्रभाकर
18. चेतना के बिंब (1967 ई.) नगेंद्र
19. जिनके साथ जिया (1973 ई.) अमृत लाल नागर
20. स्मृतिलेखा (1982 ई.) 'अज्ञेय'

No comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.