VISHWA KA BHUGOL | विश्व का भूगोल | Geography of World

vishv ka bhugol


विश्व में महाद्वीप हैं। इनके नाम इस प्रकार हैं- 1. एशिया (Asia), 2. अफ्रीका (Africa) 3. उत्तरी अमेरिका (North America) 4. दक्षिणी अमेरिका (south America) 5. यूरोप (Europe), 6. ऑस्ट्रेलिया (Australia), 7. अन्टार्कटिका (Antarctica)

एशिया महाद्वीप Asia Continent

  • यह विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है। इसका क्षेत्रफल संसार के भूभाग का लगभग 5% है। इसमें संसार की 60% जनसंख्या निवास करती है। भारत इसी महाद्वीप का देश हैजिसकी अवस्थिति दक्षिण एशिया में है।
  •  एशिया महाद्वीप प्राथमिक रूप से मुख्यतः पूर्वी और उतरी गोलार्द्ध में विस्तारित है।
  •  यह पूर्व में प्रशांत महासागरदक्षिण में हिंद महासागर तथा उत्तर में आर्कटिक महासागर से घिरा है।
  • इसे विषमताओं का महादेश (Continent of Diversity) कहा जाता है। इसमें अवस्थित पामीर के पठार को विश्व की छत कहा जाता है।
  •  एशिया महाद्वीप में कुल देशों की संख्या 49 (फिलीस्तीन सहित) है।
  •  एशिया का सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश चीनजबकि न्यूनतम जनसंख्या वाला देश मालदीव है।

अफ्रीका महाद्वीप Africa Continent

  • यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है, जिसे जिब्राल्टर जल संधि यूरोप से अलग करती है। यह सभी गोलार्डों में विस्तृत महाद्वीप है।
  • अफ्रीका महाद्वीप उत्तर में भूमध्य सागर, उत्तर-पूर्व में स्वेज नहर और लाल सागर के साथ सिनाई प्रायद्वीप, दक्षिण-पूर्व में हिंद महासागर तथा पश्चिम में अटलांटिक महासागर से घिरा है।
  • अफ्रीका को काला या अंध महाद्वीप (Dark Continen) भी कहते हैं। इसका एक नाम पठारी महाद्वीप भी है।
  • विश्व का सर्वाधिक विस्तृत मरुस्थल सहारा इसी महाद्वीप में है।
  •  यह एकमात्र ऐसा महाद्वीप है, जिसे कर्क, मकर व भूमध्यरेखाएं काटती हैं। अफ्रीका महाद्वीप में कुल संप्रभु देशों की संख्या 54है। इसका नवोदित देश दक्षिण सूडान वर्ष 2011 के जुलाई माह में अस्तित्व में आया। दक्षिण सूडान के सूडान से पृथक होकर नया देश बनने के बाद अब अफ्रीका महाद्वीप का सर्वाधिक क्षेत्रफल वाला देश अल्जीरिया है।

उत्तरी अमेरिका North America Continent

  • विश्व के इस तीसरे सबसे बड़े महाद्वीप की खोज वर्ष 1592 में कोलम्बस ने की थी, इसीलिए इसे नई दुनिया (New World) कहा जाता है।
  • अमेरिगो वेसपुस्सी, जो कि एक साहसिक यात्री था, के नाम पर इसका नामकरण अमेरिका हुआ।
  • पनामा नहर, जिससे कि विश्व का 25% व्यापार होता है, उत्तरी अमेरिका को दक्षिण अमेरिका से जोड़ती है।
  • गेहूं का अधिक उत्पादन होने के कारण इसे रोटी की टोकरी (Bread Basket of world) भी कहा जाता है।
  •  उत्तरी अमेरिका महाद्वीप पूरी तरह से उत्तरी गोलार्द्ध में तथा लगभग पूर्णतः पश्चिमी गोलार्द्ध में स्थित है।
  •  यह महाद्वीप उतर में आर्कटिक महासागर, पूर्व में अटलांटिक महासागर, पश्चिम और दक्षिण में प्रशांतमहासागर तथा दक्षिण-पूर्व में दक्षिणी अमेरिका और कैरेबियन सागर से घिरा है।
  •  उत्तरी अमेरिका महाद्वीप में देशों की कुल संख्या 23 है।

दक्षिणी अमेरिका South America Continent

  • यह विश्व का चौथा बड़ा महाद्वीप है।
  • दक्षिण अमेरिका महाद्वीप पश्चिम में प्रशांत महासागर तथा उतर एवं पूर्व में अटलांटिक महासागर से घिरा है।
  • इस महाद्वीप का विस्तार मुख्य रूप से दक्षिणी गोलार्द्ध में हैं, जिसमें 13 देश स्थित हैं।
  • यहां के मूल निवासियों को रेड इंडियन कहा जाता है।
  •  विश्व का सबसे ऊंचा ओजेसडेल सलाहो ज्वालामुखी यहां की एण्डीज पर्वतमाला में स्थित है। विश्व की सबसे लंबी पर्वत मालाभी एण्डीज ही है, जिसका विस्तार 7200 किमी. में है।
  •  इस महाद्वीप का क्षेत्रफल और जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा देश ब्राजील है।

यूरोप Europe Continent

  • यूरोप एक ऐसा महाद्वीप हैं, जिसमें एक भी मरुस्थल नहीं है। यूरोप महाद्वीप उत्तर में आर्कटिक महासागर से, पश्चिम में अटलटिक महासागर से, दक्षिण में भूमध्यसागर से तया दक्षिण-पूर्व में कला सगर और उससे जुड़े जल मार्गों से घिरा है।
  •  यूरोप महाद्वीप में कुल 50 देश हैं। इसके उत्तर में स्थित द्वीप समूह को ब्रिटिश द्वीप कहते हैं, जिसमें ग्रेट ब्रिटेन अवस्थित है। रूस इकलौता ऐसा देश है, जो एशिया और यूरोप दोनों महाद्वीपों में विस्तृत है। यह मैदानों के सर्वाधिक विस्तार वाला महाद्वीप है। यूरोप का क्षेत्रफल और जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा देश रूस है।
  •  जबकि सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी (होली सी) है।
  • यूनाइटेड किंगडम को फ्रांस से अलग करने वाला इंग्लिश चैनल यहीं है।
  •  दोनों विश्व युद्धों का केंद्र यूरोप महाद्वीप ही था।

ऑस्ट्रेलिया Australia Continent

  •  वर्ष 1770 में कप्तान जेम्स कुक व ऐबल तस्मान ने इस महाद्वीप की खोज की थी।
  •  इस महाद्वीप को द्वीपीय महाद्वीप भी कहा जाता है। चारों ओर से सागरों से घिरे इस महाद्दीप में वैश्विक स्तर पर बॉक्साइट का उत्पादन सर्वाधिक होता है।
  •  इस महाद्वीप की अवस्थिति मुख्यतः इंडो-ऑस्ट्रेलियन प्लेट पर है।
  • इसे ऑस्ट्रेलेशिया और ओशिनिया के विस्तृत क्षेत्र का भाग माना जाता है।

अन्टार्कटिका Antarctica Continent

  •  विश्व का पांचवां सबसे बड़ा यह महाद्वीप सदा हिमाच्छादित रहता है। यह दक्षिणी ध्रुव पर अवस्थित है।
  •  यह महाद्वीप दक्षिणी गोलार्द्ध के अंटार्कटिक क्षेत्र में स्थित है।
  •  यह महाद्वीप दक्षिणी महासागर से घिरा है।
  •  भारती, दक्षिण गंगोत्री व मैत्री यहां स्थित वे अनुसंधान केंद्र हैं, जिन्हें भारत द्वारा स्थापित किया गया है।
  •  विज्ञान के लिए समर्पित महाद्वीप भी इसका एक नाम है।

विश्व के मुख्य महासागर व सागर

नाम
क्षेत्रफल (वर्ग किमी. में)
गहरा स्थान (मीटर में)
महासागर
प्रशांत महासागर
16,5384,000
मैरियाना गर्त (10911)
अटलांटिक महासागर
10,64,40,000
मिल्वाउकी डीप
(8,380)
हिन्द महासागर
7, 35, 56,000
डाइमेंटिया डीप (8,047)
आर्कटिक महासागर
1,40,56,000
लिट्के डीप (5,450)
दक्षिणी महासागर
20,327,000
साउव सैंडविच गर्त (7,236)
सागर
दक्षिणी चीन सागर
35,00,000
वेस्ट ऑफ न्यू जोन
भूमध्य सागर
25,00,000
कैलिप्सो डीप
बेरिंग सागर
20,00,000
बुल्डिर डीप
कैरीबियन सागर
27,54,000
केमन ट्रेंच
ओखोटस्क सागर
15,83,000
-
पूर्वी चीन सागर
12,49,000
-
जापान सागर
9,78,000
जापान बेसिन
उत्तरी सागर
7,50,000
स्केजंरक
काला सागर
4,36,400
-
लाल सागर
4,38,000
पोर्ट सूडान
बाल्टिक सागर
3,77,000
गोनांद
पीला सागर
3,80,000

  • प्रशांत महासागर सबसे बड़ा महासागर है, जो कि पृथ्वी के 1/3 भाग को घेरे हुए है।
  •  महासागर पृथ्वी के 71% भाग में विस्तृत है। ये परस्पर जुड़े हैं तथा इनका जल लवणीय (खारा) होता है।
  •  जलवायु निर्धारण में महासागरों एवं सागरों का महत्वपूर्ण योगदान रहता है।
  •  पहले अण्टार्कटिक महासागर (दक्षिणी महासागर) को महासागर का दर्जा नहीं प्राप्त था। वर्ष 2000 में उसे इंटरनेशनल हाइड्रोग्राफ़िक आर्गेनाइजेशन द्वारा महासागर का दर्जा दिया गया।
  •  पृथ्वी के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र के चारों तरफ दक्षिणी महासागर का विस्तार है।

विश्व के मुख्य पठार


नाम
स्थिति
तिब्बत का पठार
हिमालय और क्विनलू (Quinloo) के मध्य
दक्कन का पठार
दक्षिण भारत
अरेबियन पठार
दक्षिण-पश्चिम एशिया
ब्राजील का पठार
दक्षिण अमेरिका (मध्य पूर्व)
मेक्सिको का पठार
मेक्सिको
कोलंबिया का पठार
संयुक्त राज्य अमेरिका
मेडागास्कर का पठार
मेडागास्कर
अलास्का का पठार
उत्तरी अमेरिका (उत्तर-पश्चिम)
बोलीविया का पठार
एण्डीज पर्वत श्रृंखला
ग्रेट बेसिन पठार
संयुक्त राज्य अमेरिका
  •  पठार (Plateau) की विशिष्टता यह होती है कि वह आस-पास के क्षेत्र से तो ऊंचा होता हैकिंतु इसका शीर्ष यानी ऊपरी भाग चौड़ा और सपाट होता है।
  •  इसकी चट्टानें अवसादी होती हैंजो की बलुआ व चूने पत्थर से बनी होती हैं।
  • पठारों को ऊंचाई नहींबल्कि आकार के आधार पर मैदानों व पर्वतों से पृथक किया जाता है।
  •  पठारों की ऊंचाई सामान्य रूप से 300 से 900 मीटर के बीच होती है।

विश्व के प्रमुख द्वीप 

  • §  द्वीप वे स्थलखण्ड कहलाते हैंजो चारों तरफ से जल से घिरे होते हैं।
  • §  ग्रीनलैंड विश्व का सबसे बड़ा द्वीप है जो डेनमार्क का क्षेत्र है।

द्वीप
क्षेत्रफल (वर्ग किमी.)
स्थिति
ग्रीनलैंड
2,130,800
आर्कटिक (उत्तरी ध्रुव)
 महासागर
न्यूगिनी
785,753
पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
कलिमटान (बोर्नियो)
785,168
हिंद महासागर
मेडागास्कर
587,713
हिंद महासागर
बैफीन द्वीप
507,451
आर्कटिक महासागर
सुमात्रा
473,481
हिंद महासागर
होन्शू
225,800
उतरी-पश्र्मिी प्रशांत
 महासागर
ग्रेट ब्रिटेन
209,331
उत्तरी अटलांटिक
महासागर
एलेसमेरे द्वीप
196,236
आर्कटिक महासागर
सेलेबीज (सुलावेसी)
180,681
हिंद महासागर
दक्षिण द्वीप (न्यूजीलैंड)
145,836
प्रशांत महासागर
जावा द्वीप
138,794
हिंद महासागर
उत्तरी द्वीप (न्यूजीलैंड)
111,583
प्रशांत महासागर
लुजोन द्वीप
109 ,965
पश्चिमी प्रशांत
महासागर
क्यूबा
104,556
कैरीबियन सागर
आइसलैंड
101,826
उत्तरी अटलांटिक
 महासागर
मिण्डानाओ द्वीप
97,530
पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
आयरलैण्ड
84,421
उत्तरी अटलांटिक
 महासागर
होकैडो द्वीप
78,719
उत्तरी-पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
सखालिन द्वीप
72,493
उत्तरी-पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
बैंक्स द्वीप
70,028
आर्कटिक महासागर
श्रीलंका
65,268
हिंद महासागर
तस्मानिया
65,022
प्रशांत महासागर

विश्व की प्रमुख नदियां एवं नदी तंत्र

  •  नदियों का उद्गम पर्वतों से होता है। यह ताजे पानी की विशाल धाराएं होती हैं। छोटी नदियां (सहायक नदियां) बड़ी नदियों से मिलती हैं तथा बड़ी नदियों का विलय सागरों में होता है। कुछ नदियां झीलों से जाकर भी मिलती हैं।
  • मुख्य रूप से नदियां जल के लिए वर्षा पर निर्भर करती हैं।
  • ये ढाल के सहारे प्रवाहित होती हैं तथा धरातल पर स्थलाकृतियों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।
  •  जहां से ये निकलती हैं, उसे इनका उदगम स्थल कहते हैं, जहां ये सागर से मिलती हैं, उसे नदी का मुहाना कहते हैं।

नदी
स्त्रोत
मुहाना
लंबाई (किमी. में)
1. नील-कागेरा
विक्टोरिया झीलअफ्रीका
भूमध्य सागर
6,650
2. अमेजन-यूकावली-अपुरिमैक
हिमनद झीलपेरू
अटलांटिक महासागर
6,400
3. यांग्टीज क्यांग
तिब्बत पठारचीन
पूर्वी चीन सागर
6,300
4. मिसीसिपी-मिसौरी-जेफरसन
रेड रॉक स्रोतमोंटानाअमेरिका
मेक्सिको की खाड़ी
6,275
5. येनिसी-अंगारा-सेलेंगे
टान्नू ओला माउंटरूस
कारा सागर
5,539
6. व्हांग-हो (यलो नदी)
क्युनलून पर्वत का पूर्वी भागपश्चिमी चीन
बोहाई सागर
5,464
7. ओब-इरटिस
अल्टाई माउंटरूस
ओब की खाड़ी
5,410
8. पराना-रियो डि ला प्लाटा
परानाइबा और ग्रान्डे नदियों का संगम
रियो डि ला प्लाटा
4,880
9. कांगो-चान्बेसी
लुआलावा और लुआपुला नदियों का संगमजायरे
अटलांटिक महासागर
4,700
10. अमुर अर्गुन नदी
सिल्का तथा अरगुन नदियों का संगम
ओखोटस्क सागर
4,444
11. लीना नदी
रूस
लैपनेव सागर
4,400
12. मेकांग
तिब्बत
दक्षिणी चीन सागर
4,400
13. मैकेन्जी
गिननले नदीकोलंबियाब्रिटिश कनाडा
ब्युफोर्ट सागर
4,241
14. नाइजर
गिनी
गिनी की खाड़ी
4,200
15. मर्रे-डार्लिंग
मध्य पूर्वी उच्चभूमआस्ट्रेलिया
दक्षिणी महासागर
3,672
16. टोकान्टिस-अरागुएआ
पिरेनियसब्राजील
अटलांटिक महासागरअमेजन
3,650
17. वोल्गा
वाल्दाई पठाररूस
कैस्पियन सागर
3,645
18. शात अल-अरब-यूफ्रेट्स
इराक
फारस की खाड़ी
3,596
19. मैडेइरा-मामोरे-रोचा
ब्रजील
अमेजन
3,380
20. पारूस
ब्रजील
अमेजन
3,211

विश्व के प्रमुख ज्वालामुखी

  • ज्वालामुखी से आशय पृथ्वी के धरातल में स्थित उस छिद्र से है, जिससे मैग्मा नामक गर्म तरल, गैस व चट्टानों के टूटे टुकड़े आदि निकलते हैं। धरातल में स्थित छेद का स्वरूप दरार जैसा भी हो सकता है। इसके मुख को क्रेटर (Crater), तथा आकार बढ़ने पर इसे काल्डेरा (Caldera) कहते हैं।
  • सक्रिय ज्वालामुखी से आशय उन ज्वालामुखियों से है, जिनकी सतह से गर्म तरल व गैसें आदि निकलती रहती हैं यानी उद्गार बना रहता है। विश्व में सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखियों वाला देश फिलीपाइन द्वीप समूह है।
  • इक्वाडोर में स्थित कोटोपैक्सी विश्व का सबसे ऊंचा सक्रिय ज्वालामुखी है।
  • अग्नि वलय (Ring of Fire) शब्द प्रशांत महासागर के चारों ओर स्थित सक्रिय ज्वालामुखियों के लिए प्रयुक्त होता है।
  • मृत या शांत ज्वालामुखी वे होते हैं, जो वर्तमान में तो शांत रहते ही हैं, भविष्य में भी इनके फूटने की सम्भावना नहीं रहती है।
  • जिन ज्वालामुखियों में भविष्य में विस्फोट की संभावना रहती है, उन्हें निद्रित ज्वालामुखी कहते हैं।
  • दस हजार धुआंरो की घाटी (A valley of ten thousand smokes) अलास्का (USA) के कटमई को कहते हैं, जहां से बराबर धुएं का उद्गम होता रहता है।
  •  माउंट एटना और विसूवियस ज्वालामुखी इटली में, माउंट सेंट हेलेंस अमेरिका में, मौनालोआ और किलायू हवाई (अमेरिका) में, फ्यूजीयामा जापान में, किलिमंजारो तंजानिया में, माउंट वेरिबस रॉस द्वीप (अंटार्कटिका) में, माउंट रैनियर अमेरिका में, पैरिकुटिन मेक्सिको में तथा माउंट टाल फिलीपींस में स्थित हैं। वर्तमान में विश्व का सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखी किलायू है।

नाम
ऊंचाई (मी. में)
देश
अवस्थिति
अंतिम
 उद्भेदन
ओजोस डेल सालाडो
7,084
अर्जेंटीना-चिली
एण्डीज
1981
गुयालातिरी
6,060
चिली
एण्डीज
1960
कोटोपैक्सी
5,897
इक्वाडोर
एण्डीज
1975
लस्कर
5,641
चिली
एण्डीज
1968
टुपुंगाटीटो
5,640
चिली
एण्डीज
1964
पोपोकेटापेटल
5,451
मेक्सिको
अल्टीप्लानो डी मैक्सिको
1920
नेवाडो डेल रूइज
5,400
कोलंबिया
एण्डीज
1985
सैंगेय
5,230
इक्वाडोर
एण्डीज
1976

नदियों के किनारे स्थित विश्व के प्रमुख शहर


शहर (देश)
नदी
शहर (देश)
नदी
बर्लिन (पूर्वी जर्मनी)
स्प्री
रोम (इटली)
टाईवर
वारसा (पोलैंड)
विस्चुला
पेरिस (फ्रांस)
सीने
सेंट लुइस (अमेरिका)
मिसिसिपी
प्राग (चेकोस्लोवाकिया)
विंतावा
लंदन (इंग्लैंड)
टेम्स
खास्तूम (सूडान)
नील
मास्को (रूस)
मस्कवा
कहिरा (मित्र)
नील
वॉन (जर्मनी)
रहीने
अंकरा (टर्की)
किजिल
हाको (चीन)
यांगटीसिक्यांग
लिवरपूल (इंग्लैंड)
मसी
ब्यूनस-आयर्स (अजे.)
लाप्लाटा
बेलग्रेड (यूगोस्लाविया)
डेन्यूब
डंडी (स्कॉटलँड)
टे
वाशिंगटन (अमेरिका)
पोटोमेक
कोलोन (जर्मनी)
राइन
टोक्यो (जापान)
अराकाव
बुडापेस्ट(हंगरी)
डेन्यूब
रंगून (म्यांमार)
इरावदी
वियना (आस्ट्रिया)
डेन्यूब
न्यूयार्क (सं.रा. अमेरिका)
हडसन
शंघाई (चीन)
यगिटिसी क्यांग
लिस्बन (पुर्तगाल)
टेगस
ओटावा (कनाडा)
सेंट लॉरेंस
डबलिन (आयरलैंड)
लीफे
मेड्रिड (स्पेन)
मैन्जनियर
चटगांव (बांग्लादेश)
मैयानी
कराची (पाकिस्तान)
सिंधु
हैम्बर्ग (जर्मनी)
एल्वे
दिल्ली (भारत)
यमुना
बसरा (इराक)
दजला और फरात
शिकागो (अमेरिका)
शिकागो
लाहौर (पाकिस्तान)
रावी
ब्रिस्टले (इंग्लैंड)
एवन
स्टालिनग्राड (रूस)
वोल्गा
बगदाद (इराक)
टाइग्रिस
डेजिंग (जर्मनी)
विस्टुला
पर्थ (आस्ट्रेलिया)
स्वान
सिडनी (आस्ट्रेलिया)
डार्लिंग
अस्वान (मिस्र)
नील
माण्ट्रियल (कनाडा)
सेट लॉरेंस
कीव (रूस)
लीपर

विश्व की मुख्य अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाएं 

रेखा का नाम
किसके बीच
मैकमोहनरेखा
भारत एवं चीन के मध्य
डूरंड-रेखा
पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के मध्य
रैडक्लिफ रेखा
भारत एवं पाकिस्तान के मध्य
हिण्डनबर्ग रेखा
जर्मनी एवं पोलैण्ड के मध्य
मैगीनॉट रेखा
जर्मनी एवं फ्रांस के मध्य
17वीं समानान्तर रेखा
उत्तरी एवं दक्षिणी वियतनाम के बीच
38वीं समानान्तर रेखा
उत्तरी एवं दक्षिणी कोरिया के मध्य
49वीं समानान्तर रेखा
यूएसए एवं कनाडा के बीच
24वीं समानान्तर रेखा
भारत और पाकिस्तान
ओडरनास रेखा
जर्मनी और पोलैंड
सीजफ्राइड रेखा
जर्मनी और फ्रांस

विश्व की प्रमुख फसलें और उनका उत्पादन करने वाले देश 


मुख्य फसलें
देश
चावल
भारतइंडोनेशियाबांग्लादेशवियतनाम
खाद्य तेल
ब्राजीलचीनअर्जेंटीनाभारत
गेंहू
चीनभारतअमेरिकारूसफ़्रांस
गेहूं
चीनभारतअमेरिकारूसफ्रांस
जौ
फ्रांसआस्ट्रेलियारूसयूक्रेनकनाडा
ज्वार
भारतनाइजीरियाइथियोपियाअमेरिकाअर्जेंटीना
दलहन
भारतमोजाबिकपाकिस्तानवियतनामथाईलैंड
मक्का
अमेरिकाचीनब्राजीलअर्जेन्टीनाभारत
चाय
चीनभारतकेन्याश्रीलंकातुर्की
कपास
चीनभारतब्राजीलपाकिस्तानउज्बेकिस्तान
रबड़
थाईलैण्डइण्डोनेशियामलेशियाभारतवियतनाम
कॉफ़ी
ब्राजीलवियतनामइण्डोनेशियाकोलंबियाइथियोपिया
तंबाकू
चीनभारतब्राजीलसंयुक्त राज्य अमेरिकामलावी
नारियल
इण्डोनेशियाफिलिपींसभारतब्राजीलश्रीलंका
सूर्यमुखी
यूक्रेनरूसअर्जेटीनारोमानियाफ्रांस
मूंगफली
चीनभारतनाईजीरियाअमेरिकाम्यांमार
गन्ना
ब्राजीलभारतचीनवाईलैंडपाकिस्तान
जूट
बांग्लादेशभारतचीनउज्बेकिस्ताननेपाल
सिल्क (silk)
जपानचीनकोरियाभारततुर्की
कोको (Cocoa)
कोस्ट डी आइवरीइंडोनेशियाघानानाइजीरियाकैमरून
लौंग(Cloves)
तंजानिया
मोटे अनाज (Coarse Grains)
अमेरिकाचीनब्रार्जीलरूस
आलू
चीनभारतअमेरिकारूसजर्मनी
मसाले
भारतबांग्लादेशतुर्कीचीनपाकिस्तान
प्याज
चीनभारतअल्जीरिया चीनभारतअमेरिकाईरानमिस्र
टमाटर
चीनभारतअमेरिकातुर्कीमिस्र

 विश्व के सर्वाधिक खनिज भंडार वाले देश


खनिज
सर्वाधिक खनिज भंडार वाले देश
प्लेटिनम
द. अफ्रीकारूसअमेरिका
बाइराइट
चीनभारतअल्जीरिया
टंगस्टन
चीनरूसअमेरिका
चांदी
पेरूपोलैंडचिली
बॉक्साइट
गिनीऑस्ट्रेलियाब्राजील
पेट्रोलियम
सऊदी अरबवेनेजुएलाईरान
प्राकृतिक गैस
रूसईरानकतर
कोयला
अमेरिकारूसचीन
लौह अयस्क
आस्ट्रेलियाब्राजीलरूस
कैडमियम
भारतचीनआस्ट्रेलिया
कोबाल्ट
कांगोआस्ट्रेलियाक्यूबा
तांबा
चिलीपेरूआस्ट्रेलिया
क्रोमाइट
कजाखस्तानद. अफ्रीकाभारत
ग्रेफाइट
चीनभारतमेक्सिको
सोना
आस्ट्रेलियाद. अफ्रीकारूस
हीरा
कांगोबोत्सवानाआस्ट्रेलिया
निकिल
आस्ट्रेलियान्यू कैल्डोनियाब्राजील
मैंगनीज
द. अफ्रीकायूक्रेनब्राजील
मैग्नेसाइट
रूसचीनउ. कोरिया
सीसा (लेड)
आस्ट्रेलियाचीनरूस
जस्ता (जिंक)
आस्ट्रेलियाचीनपेरू
यूरेनियम
ऑस्ट्रेलियाकजाख्तानकनाडा

विश्व के सर्वाधिक खनिज उत्पादक देश


खनिज
उत्पादक देश
लोहा
चीनआस्ट्रेलियाब्राजील
तांबा
चिलीपेरूचीन
मैंगनीज
चीनद. अफ्रीकाआस्ट्रेलिया
बॉक्साइट
ऑस्ट्रेलियाब्राजीलचीन
सोना
चीनऑस्ट्रेलियाअमेरिका
जस्ता (जिंक)
चीनआस्ट्रेलियापेरू
हीरा
रूसबोत्सवानाकांगो
निकिल
रूसइंडोनेशियाआस्ट्रेलिया
चांदी
मैक्सिकोपेरूचीन
सीसा (लेड)
चीनऑस्ट्रेलियाअमेरिका
अभ्रक (माइका)
चीनअमेरिकाद. कोरिया
ग्रेफाइट
चीनभारतब्रजील
क्रोमाइट
द. अफ्रीकाकजाखस्तानभारत
टंगस्टन
चीनरूसबोलिविया
कोबाल्ट
कांगोचीनजाम्बिया
प्लेटिनम
द. अफ्रीकारूसअमेरिका
बेंटोनाइट
अमेरिकाचीनग्रीस
यूरेनियम
कजाख्स्तानकनाडाआस्ट्रेलिया
कोयला
चीनअमेरिकाभारत
पेट्रोलियम
रूससऊदी अरबअमेरिका
प्राकृतिक गैस
रूसअमेरिकाकनाडा
थोरियम
भारतब्राजीलअमेरिका
मैग्नेसाइट
चीनरूसतुर्की
एल्युमिनियम
चीनरूसकनाडा
फेल्सपार
तुर्कीइटलीचीन
जिप्सम
चीनईरानथाईलैंड
एस्बेस्टस
रूसचीनब्राजील
कैडमियम
चीनद. कोरियाजापान

विश्व की प्रमुख जलसंधियां

  • 1. मलक्का जलसंधि - अंडमान सागर एवंबीदक्षिणी चीन सागर
  • 2. पाक जलसंधि - मन्नार एवं बंगालनकी खाड़ी
  • 3. सुंडा जलसंधि - जावा सागर एवं हिंद महासागर
  • 4. बाव-एल मंडव जलसंधि - लाल सागर-अरब सागर
  • 5. कुक जलसंधि - दक्षिण प्रशांत महासागर
  • 6. मोजाम्बिक चैनल - हिंद महासागर
  • 7. नॉर्थ चैनल - आयरिश सागर एवं अटलांटिक महासागर
  • 8. बेरिंग जलसंधि - बेरिंग सागर एवं चुक्सी सागर
  • 9. डेविस जलसंधि - बेफिन खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
  • 10. डेनमार्क जलसंधि - उ. अटलांटिक एवं आर्कटिक महासागर
  • 11. डोवर जलसंधि - इंग्लिश चैनल एवं उत्तरी सागर
  • 12. फ्लॉरिडा जलसंधि >मैक्सिको की खाड़ी एवं अटलांटिकबीमहासागर
  • 13. हारमुज जलसंधि - फारस की खाड़ी एवं ओमान की खाड़ी
  • 14. हड़सन जलसंधि -हड़सन की खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
  • 15. जिब्राल्टर जलसंधि - भूमध्य सागर एवं अटलांटिक महासागर
  • 16. मैगेलन जलसंधि - प्रशांत एवं दक्षिण अटलांटिक महासागर

1 comment:

Powered by Blogger.