Vishv Ki Prachi Sabhyatayen| विश्व की प्राचीन सभ्यताएं (Ancient civilizations)

विश्व की प्राचीन सभ्यताएं (Ancient civilizations)
आज से लगभग 5 हजार वर्ष पर्व विश्व के अनेक भागों में कई सभ्यताओं का जन्म हुआ। इसमें मिस्र की सभ्यता, मेसोपोटामिया की सभ्यता, सिंधु घाटी की सभ्यता, बेबीलोन की सभ्यता, चीन की सभ्यता इत्यादि प्रमुख थीं। ये सभी सभ्यतायें सामान्यतया नदियों के किनारे विकसित हुई। 

मिस्र की सभ्यता
  • मिस्र की सभ्यता विश्व की प्रचीन सभ्यताओं से सबसे प्रचीन मानी जाती है। यह सभ्यता नील नदी के आस-पास विकसित हुई। पिरामिडों का निमार्ण इस सभ्यता की महत्वपूर्ण विशेषता थी। 
मेसोपोटामिया की सभ्यता
  • मेसोपोटामिया का अर्थ है- ‘नदियों के बीच की भूमि‘ ।
  • मेसोपोटामिया की सभ्यता दजला और फरात नामक दो नदियो के बीच विकसित हुई।
  • इसका काल 3000 ई  पू  से 600 ई  पू के बीच माना जाता है।
  • सुमेर, इस सभ्यता का मुख्य नगर था । इस सभ्यता के लोगों ने ही सबसे पहले ‘ कुम्हार के चाक‘ का प्रयोग किया। 
फारस की सभ्यता
  • यह सभ्यता 550 ई.पू से 330 ई पू  के मध्य विकसित हुई। वर्तमान में फारस को ईरान कहा जाता है। 
आर्मीनियन सभ्यता
  • इस सभ्यता के निवासी सेमेटिक जाति के थे। आरमाइक लिपि के जनक इसी सभ्यता के लोग थे। 
बेबीलोन की सभ्यता
  • 2500 ई.पू. के फरात के तट पर स्थित बाबुुल (बेबीलोन) नामक शहर में एक नयी सभ्यता का विकास हुआ, जिस में बेबीलोन की सभ्यता के नाम से जाना जाता है।
  • हम्मूराबी (1792 ई.पू- 750 ई पू ) बेबीलोन का सबसे प्रसिद्ध शासक था। उसके शासन का सही ढंग से चालने के लिये एक ‘विधि संहिता ‘ का निमार्ण किया। 
सिंधु घाटी की सभ्यता
  • यह सभ्यता सिंधु नदी एवं उसके समीन के क्षेत्रों में 3000 ईसा पूर्व विकसित हुई।
  • यह कांस्ययुगीन सभ्यता थी।
  • इस सभ्यता की खोज चार्ल्स मैसन नामक एक अंगेज ने की थी। इसे ‘ हड़प्पा सभ्यता ‘ भी कहा जाता है। यह नगरी सभ्यता थी। सुनियोजित नगरों का विकास इस सभ्यता की सबसे प्रमुुख विशेषता थी 
चीन की सभ्यता
  • इसे ‘ह्मंग हो सभ्यता‘ के नाम से जाना जाता है। यह सभ्यता ह्मंग हो नदी क्षेत्र में विकसित हुई चीन की सभ्यता की प्रारंभिक सभ्यता ,शांग सभ्यता को माना जाता है।
  • विश्व को चीन की सभ्यता ने कई महत्वपूर्ण देने  दी है जैसे - लेखन काल, दिशा सूचक यंत्र , छापाखाना , कागज निमार्ण की तकनीक, गोला बारूद ,ताश का खेल ,रेशम के कीड़ों को पालन, चीनी मिट्टी के बर्तन बनना, पतंग उड़ाना आदि। 
यूनान की सभ्यता
  • कुछ लोंग इसे विश्व की सबसे प्राचीन सभ्यता मानते है।
  • इनके कई प्रसिद्ध देवता थे, जैसें- आकाश का देवता -जीयस, शराब का देवता - डायोनीसस, समुद्र का देवता -पोसीदन, सूर्य का देवता -अपोलो तथा विजय की देवी -एथीना आदि।
अमरीकी सभ्यता
  • 2500 ईसा पूर्व के लगभग अमेरिका में कई प्राचीन सभ्यतायें अस्तिवत्व में थीं, इनमें मध्य अमेरिका की ‘ माया ‘ एवं ‘ एजटेक ‘ सभ्यतायें तथा दक्षिण अमेरिका की ‘ इंका ‘ सभ्यता प्रमुख थीं । मेक्सिकों भी कई प्रमुख संस्कृतियों का केंद्र था। 
अफ्रीका की सभ्यता
  • अफ्रीका की खोज के पहले इस ‘अंधकारमय द्वीप‘ के नाम से जाना जाता था।
  • 19वीं शताब्दी में प्रारंभिक खोजों के पश्चात यूरोपवासियों ने यहां कई क्षेत्रों में अपना उपनिवेश बनाये, जिससे नई सभ्यता का जन्म हुआ।
अरब की सभ्यता
  • 7 वीं शब्तादी में इस्लाम के उदय के साथ ही अरब में एक नयी सभ्यता में जन्म लिया।
  • अरबी सभ्यता ने मानव नें कई महत्वपूर्ण चीजें दीं है। जैसें - भारतीय अंक प्राणाली का विश्व में प्रचार, लिखावट के नई अरबी अंकों का आदि। अरबों नेें लिखावट एक नयी शैली को भी जन्म दिया, जिसे खुशखती कहते है। 

No comments

Powered by Blogger.