Header Ads

मध्य प्रदेश के प्रमुख व्यक्तित्व 02 { Famous Personalities of Madhya Pradesh }

पंडित रविशंकर शुक्ल
  • पंडित रविशंकर शुक्ल का जन्म ब्रिटिशकालीन भारत में 2 अगस्त, 1877 ई. में सीपी और बेरार के सागर शहर में हुआ था।
  • इनके पिता पंडित जगन्नाथ शुक्ल और माता श्रीमती तुलसी देवी थीं।
  • सन 1901 में इन्होंने सरकारी नौकरी छोड़ कर जबलपुर के 'हितकारिणी स्कूल' में अध्यापन कार्य शुरु किया।
  • 1936 में प्रांतीय धारा सभा के चुनाव में शुक्ल जी विजयी हुए और डॉ. खरे द्वारा त्यागपत्र देने के बाद अगस्त, 1938 से 10 नवम्बर, 1939 तक मुख्यमंत्री रहे। 
  • सन 1952 में प्रथम आम चुनावों के बाद पुन: मुख्यमंत्री बने।
  • रविशंकर शुक्ल जी राज्य पुर्नगठन के पश्चात् गठित नए मध्य प्रदेश के सर्वसम्मति से प्रथम मुख्यमंत्री बनाए गए
  • पण्डित रविशंकर शुक्ल जी का निधन 31 दिसम्बर, 1956 को दिल्ली में हुआ।

शंकर दयाल शर्मा
  • शंकर दयाल शर्मा का जन्म 19 अगस्त 1918 को भोपाल में 'दाई का मौहल्ला' में हुआ था।
  • पिता का नाम 'पण्डित खुशीलाल शर्मा' था और वह एक प्रसिद्ध वैद्य थे।
  • माता का नाम 'श्रीमती सुभद्रा देवी' था।
  • 7 मई 1950 में श्री शंकरदयाल शर्मा का विवाह 'विमला शर्मा' के साथ सम्पन्न हुआ।
  • 1942 में महात्मा गांधी के आह्वान पर जब भारत छोड़ो आंदोलन के तहत समस्त भारतवर्ष उठ खड़ा हुआ तो वह भी इसके सिपाही बने।
  • 1948 में 'भोपाल स्टेट' का भारतीय गणतंत्र में विलय हेतु आंदोलन किया गया।
  • शंकरदयाल शर्मा 1952 से 1956 तक भोपाल राज्यसभा के सदस्य चुने गए और प्रथम मुख्यमंत्री बने।
  • 1972-1974 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष निर्वाचित हुए।
  • शंकरदयाल शर्मा 21 अगस्त, 1987 को उपराष्ट्रपति पद पर निर्विरोध निर्वाचित हुए
  • डॉ शर्मा 16 जुलाई, 1992 को राष्ट्रपति पद के लिये निर्वाचित हुए
  • 26 दिसंबर, 1999 को दिल का दौरा पड़ने के कारण उनका देहांत हो गया।
राजमाता विजयाराजे सिंधिया
  • राजमाता विजयाराजे सिंधिया का जन्म 1919 ई. सागर, मध्य प्रदेश के राणा परिवार में हुआ था।
  • विजयाराजे सिंधिया का विवाह के पूर्व का नाम 'लेखा दिव्येश्वरी' था। 
  • विजयाराजे सिंधिया का विवाह 21 फ़रवरी, 1941 ई. में ग्वालियर के महाराजा जीवाजी राव सिंधिया से हुआ था।
  • विजयाराजे सिंधिया के पुत्र माधवराव सिंधिया, पुत्री वसुंधरा राजे सिंधिया और यशोधरा राजे सिंधिया हैं।
  • 25 जनवरी, 2001 में राजमाता विजयाराजे सिंधिया का निधन हो गया।
अलाउद्दीन ख़ाँ
  • अलाउद्दीन ख़ाँ का जन्म सन 1881 में शिवपुर गांव में हुआ था, जो भारत की आज़ादी के बाद बांग्लादेश में चला गया।
  • अलाउद्दीन ख़ाँ को साधू ख़ाँ के नाम से भी जानते थे
  • महान् उस्ताद अलाउद्दीन ख़ाँ भारतीय संगीत के सबसे बड़े घरानों में से एक मैहर घराने की नींव रखी थी
  • 90 साल पुराने मैहर बैंड को अब 'वाद्य-वृंद' के रूप में जाना जाता है,
  • उस्ताद अलाउद्दीन ख़ाँ ने मैहर कॉलेज ऑफ म्यूजिक की स्थापना की।
  • अलाउद्दीन ख़ाँ की मृत्यु 6 सितम्बर, 1972 में हुई थी।
उस्ताद अमीर ख़ाँ
  • उस्ताद अमीर ख़ाँ का जन्म 15 अगस्त, 1912 को इंदौर में एक संगीत परिवार में हुआ था।
  • इनके पिता शाहमीर ख़ान भिंडी बाज़ार घराने के सारंगी वादक थे
  • संगीत के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिये उस्ताद अमीर ख़ान को 1967 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार और 1971 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
  • उस्ताद अमीर ख़ाँ साहब को 13 फ़रवरी, 1974 के दिन हम से हमेशा हमेशा के लिए विदा हो गये।
अब्दुल लतीफ़ ख़ान
  • भोपाल के प्रसिद्ध सारंगी वादक।

No comments

Powered by Blogger.