विश्व का भूगोल { Geography of World }



विश्व में 7 महाद्वीप हैं। इनके नाम इस प्रकार हैं- 1. एशिया (Asia), 2. अफ्रीका (Africa) 3. उत्तरी अमेरिका (North America) 4. दक्षिणी अमेरिका (south America) 5. यूरोप (Europe), 6. ऑस्ट्रेलिया (Australia), 7. अन्टार्कटिका (Antarctica)
एशिया महाद्वीप Asia Continent
  • यह विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है। इसका क्षेत्रफल संसार के भूभाग का लगभग 5% है। इसमें संसार की 60% जनसंख्या निवास करती है। भारत इसी महाद्वीप का देश है, जिसकी अवस्थिति दक्षिण एशिया में है।
  • एशिया महाद्वीप प्राथमिक रूप से मुख्यतः पूर्वी और उतरी गोलार्द्ध में विस्तारित है।
  • यह पूर्व में प्रशांत महासागर, दक्षिण में हिंद महासागर तथा उत्तर में आर्कटिक महासागर से घिरा है।
  • इसे विषमताओं का महादेश (Continent of Diversity) कहा जाता है। इसमें अवस्थित पामीर के पठार को विश्व की छत कहा जाता है।
  • एशिया महाद्वीप में कुल देशों की संख्या 49 (फिलीस्तीन सहित) है।
  • एशिया का सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश चीन, जबकि न्यूनतम जनसंख्या वाला देश मालदीव है।
अफ्रीका महाद्वीप Africa Continent
  • यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महाद्वीप है, जिसे जिब्राल्टर जल संधि यूरोप से अलग करती है। यह सभी गोलार्डों में विस्तृत महाद्वीप है।
  • अफ्रीका महाद्वीप उत्तर में भूमध्य सागर, उत्तर-पूर्व में स्वेज नहर और लाल सागर के साथ सिनाई प्रायद्वीप, दक्षिण-पूर्व में हिंद महासागर तथा पश्चिम में अटलांटिक महासागर से घिरा है।
  • अफ्रीका को काला या अंध महाद्वीप (Dark Continen) भी कहते हैं। इसका एक नाम पठारी महाद्वीप भी है।
  • विश्व का सर्वाधिक विस्तृत मरुस्थल सहारा इसी महाद्वीप में है।
  • यह एकमात्र ऐसा महाद्वीप है, जिसे कर्क, मकर व भूमध्यरेखाएं काटती हैं। अफ्रीका महाद्वीप में कुल संप्रभु देशों की संख्या 54है। इसका नवोदित देश दक्षिण सूडान वर्ष 2011 के जुलाई माह में अस्तित्व में आया। दक्षिण सूडान के सूडान से पृथक होकर नया देश बनने के बाद अब अफ्रीका महाद्वीप का सर्वाधिक क्षेत्रफल वाला देश अल्जीरिया है।
उत्तरी अमेरिका North America Continent
  • विश्व के इस तीसरे सबसे बड़े महाद्वीप की खोज वर्ष 1592 में कोलम्बस ने की थी, इसीलिए इसे नई दुनिया (New World) कहा जाता है।
  • अमेरिगो वेसपुस्सी, जो कि एक साहसिक यात्री था, के नाम पर इसका नामकरण अमेरिका हुआ।
  • पनामा नहर, जिससे कि विश्व का 25% व्यापार होता है, उत्तरी अमेरिका को दक्षिण अमेरिका से जोड़ती है।
  • गेहूं का अधिक उत्पादन होने के कारण इसे रोटी की टोकरी (Bread Basket of world) भी कहा जाता है।
  • उत्तरी अमेरिका महाद्वीप पूरी तरह से उत्तरी गोलार्द्ध में तथा लगभग पूर्णतः पश्चिमी गोलार्द्ध में स्थित है।
  • यह महाद्वीप उतर में आर्कटिक महासागर, पूर्व में अटलांटिक महासागर, पश्चिम और दक्षिण में प्रशांतमहासागर तथा दक्षिण-पूर्व में दक्षिणी अमेरिका और कैरेबियन सागर से घिरा है।
  • उत्तरी अमेरिका महाद्वीप में देशों की कुल संख्या 23 है।
दक्षिणी अमेरिका South America Continent
  • यह विश्व का चौथा बड़ा महाद्वीप है।
  • दक्षिण अमेरिका महाद्वीप पश्चिम में प्रशांत महासागर तथा उतर एवं पूर्व में अटलांटिक महासागर से घिरा है।
  • इस महाद्वीप का विस्तार मुख्य रूप से दक्षिणी गोलार्द्ध में हैं, जिसमें 13 देश स्थित हैं।
  • यहां के मूल निवासियों को रेड इंडियन कहा जाता है।
  • विश्व का सबसे ऊंचा ओजेसडेल सलाहो ज्वालामुखी यहां की एण्डीज पर्वतमाला में स्थित है। विश्व की सबसे लंबी पर्वत मालाभी एण्डीज ही है, जिसका विस्तार 7200 किमी. में है।
  • इस महाद्वीप का क्षेत्रफल और जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा देश ब्राजील है।
यूरोप Europe Continent
  • यूरोप एक ऐसा महाद्वीप हैं, जिसमें एक भी मरुस्थल नहीं है। यूरोप महाद्वीप उत्तर में आर्कटिक महासागर से, पश्चिम में अटलटिक महासागर से, दक्षिण में भूमध्यसागर से तया दक्षिण-पूर्व में कला सगर और उससे जुड़े जल मार्गों से घिरा है।
  • यूरोप महाद्वीप में कुल 50 देश हैं। इसके उत्तर में स्थित द्वीप समूह को ब्रिटिश द्वीप कहते हैं, जिसमें ग्रेट ब्रिटेन अवस्थित है। रूस इकलौता ऐसा देश है, जो एशिया और यूरोप दोनों महाद्वीपों में विस्तृत है। यह मैदानों के सर्वाधिक विस्तार वाला महाद्वीप है। यूरोप का क्षेत्रफल और जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा देश रूस है।
  • जबकि सबसे छोटा देश वेटिकन सिटी (होली सी) है।
  • यूनाइटेड किंगडम को फ्रांस से अलग करने वाला इंग्लिश चैनल यहीं है।
  • दोनों विश्व युद्धों का केंद्र यूरोप महाद्वीप ही था।
ऑस्ट्रेलिया Australia Continent
  • वर्ष 1770 में कप्तान जेम्स कुक व ऐबल तस्मान ने इस महाद्वीप की खोज की थी।
  • इस महाद्वीप को द्वीपीय महाद्वीप भी कहा जाता है। चारों ओर से सागरों से घिरे इस महाद्दीप में वैश्विक स्तर पर बॉक्साइट का उत्पादन सर्वाधिक होता है।
  • इस महाद्वीप की अवस्थिति मुख्यतः इंडो-ऑस्ट्रेलियन प्लेट पर है।
  • इसे ऑस्ट्रेलेशिया और ओशिनिया के विस्तृत क्षेत्र का भाग माना जाता है।
अन्टार्कटिका Antarctica Continent
  • विश्व का पांचवां सबसे बड़ा यह महाद्वीप सदा हिमाच्छादित रहता है। यह दक्षिणी ध्रुव पर अवस्थित है।
  • यह महाद्वीप दक्षिणी गोलार्द्ध के अंटार्कटिक क्षेत्र में स्थित है।
  • यह महाद्वीप दक्षिणी महासागर से घिरा है।
  • भारती, दक्षिण गंगोत्री व मैत्री यहां स्थित वे अनुसंधान केंद्र हैं, जिन्हें भारत द्वारा स्थापित किया गया है।
  • विज्ञान के लिए समर्पित महाद्वीप भी इसका एक नाम है।
विश्व के मुख्य महासागर व सागर
नामक्षेत्रफल (वर्ग किमी. में)गहरा स्थान (मीटर में)
महासागर
प्रशांत महासागर16,5384,000मैरियाना गर्त (10911)
अटलांटिक महासागर10,64,40,000मिल्वाउकी डीप
(8,380)
हिन्द महासागर7, 35, 56,000डाइमेंटिया डीप (8,047)
आर्कटिक महासागर1,40,56,000लिट्के डीप (5,450)
दक्षिणी महासागर20,327,000साउव सैंडविच गर्त (7,236)
सागर
दक्षिणी चीन सागर35,00,000वेस्ट ऑफ न्यू जोन
भूमध्य सागर25,00,000कैलिप्सो डीप
बेरिंग सागर20,00,000बुल्डिर डीप
कैरीबियन सागर27,54,000केमन ट्रेंच
ओखोटस्क सागर15,83,000-
पूर्वी चीन सागर12,49,000-
जापान सागर9,78,000जापान बेसिन
उत्तरी सागर7,50,000स्केजंरक
काला सागर4,36,400-
लाल सागर4,38,000पोर्ट सूडान
बाल्टिक सागर3,77,000गोनांद
पीला सागर3,80,000
  • प्रशांत महासागर सबसे बड़ा महासागर है, जो कि पृथ्वी के 1/3 भाग को घेरे हुए है।
  • महासागर पृथ्वी के 71% भाग में विस्तृत है। ये परस्पर जुड़े हैं तथा इनका जल लवणीय (खारा) होता है।
  • जलवायु निर्धारण में महासागरों एवं सागरों का महत्वपूर्ण योगदान रहता है।
  • पहले अण्टार्कटिक महासागर (दक्षिणी महासागर) को महासागर का दर्जा नहीं प्राप्त था। वर्ष 2000 में उसे इंटरनेशनल हाइड्रोग्राफ़िक आर्गेनाइजेशन द्वारा महासागर का दर्जा दिया गया।
  • पृथ्वी के दक्षिणी ध्रुवीय क्षेत्र के चारों तरफ दक्षिणी महासागर का विस्तार है।
विश्व के मुख्य पठार
नामस्थिति
तिब्बत का पठारहिमालय और क्विनलू (Quinloo) के मध्य
दक्कन का पठारदक्षिण भारत
अरेबियन पठारदक्षिण-पश्चिम एशिया
ब्राजील का पठारदक्षिण अमेरिका (मध्य पूर्व)
मेक्सिको का पठारमेक्सिको
कोलंबिया का पठारसंयुक्त राज्य अमेरिका
मेडागास्कर का पठारमेडागास्कर
अलास्का का पठारउत्तरी अमेरिका (उत्तर-पश्चिम)
बोलीविया का पठारएण्डीज पर्वत श्रृंखला
ग्रेट बेसिन पठारसंयुक्त राज्य अमेरिका
  • पठार (Plateau) की विशिष्टता यह होती है कि वह आस-पास के क्षेत्र से तो ऊंचा होता है, किंतु इसका शीर्ष यानी ऊपरी भाग चौड़ा और सपाट होता है।
  • इसकी चट्टानें अवसादी होती हैं, जो की बलुआ व चूने पत्थर से बनी होती हैं।
  • पठारों को ऊंचाई नहीं, बल्कि आकार के आधार पर मैदानों व पर्वतों से पृथक किया जाता है।
  • पठारों की ऊंचाई सामान्य रूप से 300 से 900 मीटर के बीच होती है।
विश्व के प्रमुख द्वीप 
  • द्वीप वे स्थलखण्ड कहलाते हैं, जो चारों तरफ से जल से घिरे होते हैं।
  • ग्रीनलैंड विश्व का सबसे बड़ा द्वीप है जो डेनमार्क का क्षेत्र है।
द्वीपक्षेत्रफल (वर्ग किमी.)स्थिति
ग्रीनलैंड2,130,800आर्कटिक (उत्तरी ध्रुव)
 महासागर
न्यूगिनी785,753पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
कलिमटान (बोर्नियो)785,168हिंद महासागर
मेडागास्कर587,713हिंद महासागर
बैफीन द्वीप507,451आर्कटिक महासागर
सुमात्रा473,481हिंद महासागर
होन्शू225,800उतरी-पश्र्मिी प्रशांत
 महासागर
ग्रेट ब्रिटेन209,331उत्तरी अटलांटिक
महासागर
एलेसमेरे द्वीप196,236आर्कटिक महासागर
सेलेबीज (सुलावेसी)180,681हिंद महासागर
दक्षिण द्वीप (न्यूजीलैंड)145,836प्रशांत महासागर
जावा द्वीप138,794हिंद महासागर
उत्तरी द्वीप (न्यूजीलैंड)111,583प्रशांत महासागर
लुजोन द्वीप109 ,965पश्चिमी प्रशांत
महासागर
क्यूबा104,556कैरीबियन सागर
आइसलैंड101,826उत्तरी अटलांटिक
 महासागर
मिण्डानाओ द्वीप97,530पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
आयरलैण्ड84,421उत्तरी अटलांटिक
 महासागर
होकैडो द्वीप78,719उत्तरी-पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
सखालिन द्वीप72,493उत्तरी-पश्चिमी प्रशांत
 महासागर
बैंक्स द्वीप70,028आर्कटिक महासागर
श्रीलंका65,268हिंद महासागर
तस्मानिया65,022प्रशांत महासागर
विश्व की प्रमुख नदियां एवं नदी तंत्र

  • नदियों का उद्गम पर्वतों से होता है। यह ताजे पानी की विशाल धाराएं होती हैं। छोटी नदियां (सहायक नदियां) बड़ी नदियों से मिलती हैं तथा बड़ी नदियों का विलय सागरों में होता है। कुछ नदियां झीलों से जाकर भी मिलती हैं।
  • मुख्य रूप से नदियां जल के लिए वर्षा पर निर्भर करती हैं।
  • ये ढाल के सहारे प्रवाहित होती हैं तथा धरातल पर स्थलाकृतियों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।
  • जहां से ये निकलती हैं, उसे इनका उदगम स्थल कहते हैं, जहां ये सागर से मिलती हैं, उसे नदी का मुहाना कहते हैं।
नदीस्त्रोतमुहानालंबाई (किमी. में)
1. नील-कागेराविक्टोरिया झील, अफ्रीकाभूमध्य सागर6,650
2. अमेजन-यूकावली-अपुरिमैकहिमनद झील, पेरूअटलांटिक महासागर6,400
3. यांग्टीज क्यांगतिब्बत पठार, चीनपूर्वी चीन सागर6,300
4. मिसीसिपी-मिसौरी-जेफरसनरेड रॉक स्रोत, मोंटाना, अमेरिकामेक्सिको की खाड़ी6,275
5. येनिसी-अंगारा-सेलेंगेटान्नू ओला माउंट, रूसकारा सागर5,539
6. व्हांग-हो (यलो नदी)क्युनलून पर्वत का पूर्वी भाग, पश्चिमी चीनबोहाई सागर5,464
7. ओब-इरटिसअल्टाई माउंट, रूसओब की खाड़ी5,410
8. पराना-रियो डि ला प्लाटापरानाइबा और ग्रान्डे नदियों का संगमरियो डि ला प्लाटा4,880
9. कांगो-चान्बेसीलुआलावा और लुआपुला नदियों का संगम, जायरेअटलांटिक महासागर4,700
10. अमुर अर्गुन नदीसिल्का तथा अरगुन नदियों का संगमओखोटस्क सागर4,444
11. लीना नदीरूसलैपनेव सागर4,400
12. मेकांगतिब्बतदक्षिणी चीन सागर4,400
13. मैकेन्जीगिननले नदी, कोलंबिया, ब्रिटिश कनाडाब्युफोर्ट सागर4,241
14. नाइजरगिनीगिनी की खाड़ी4,200
15. मर्रे-डार्लिंगमध्य पूर्वी उच्चभूम, आस्ट्रेलियादक्षिणी महासागर3,672
16. टोकान्टिस-अरागुएआपिरेनियस, ब्राजीलअटलांटिक महासागर, अमेजन3,650
17. वोल्गावाल्दाई पठार, रूसकैस्पियन सागर3,645
18. शात अल-अरब-यूफ्रेट्सइराकफारस की खाड़ी3,596
19. मैडेइरा-मामोरे-रोचाब्रजीलअमेजन3,380
20. पारूसब्रजीलअमेजन3,211
विश्व के प्रमुख ज्वालामुखी
  • ज्वालामुखी से आशय पृथ्वी के धरातल में स्थित उस छिद्र से है, जिससे मैग्मा नामक गर्म तरल, गैस व चट्टानों के टूटे टुकड़े आदि निकलते हैं। धरातल में स्थित छेद का स्वरूप दरार जैसा भी हो सकता है। इसके मुख को क्रेटर (Crater), तथा आकार बढ़ने पर इसे काल्डेरा (Caldera) कहते हैं।
  • सक्रिय ज्वालामुखी से आशय उन ज्वालामुखियों से है, जिनकी सतह से गर्म तरल व गैसें आदि निकलती रहती हैं यानी उद्गार बना रहता है। विश्व में सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखियों वाला देश फिलीपाइन द्वीप समूह है।
  • इक्वाडोर में स्थित कोटोपैक्सी विश्व का सबसे ऊंचा सक्रिय ज्वालामुखी है।
  • अग्नि वलय (Ring of Fire) शब्द प्रशांत महासागर के चारों ओर स्थित सक्रिय ज्वालामुखियों के लिए प्रयुक्त होता है।
  • मृत या शांत ज्वालामुखी वे होते हैं, जो वर्तमान में तो शांत रहते ही हैं, भविष्य में भी इनके फूटने की सम्भावना नहीं रहती है।
  • जिन ज्वालामुखियों में भविष्य में विस्फोट की संभावना रहती है, उन्हें निद्रित ज्वालामुखी कहते हैं।
  • दस हजार धुआंरो की घाटी (A valley of ten thousand smokes) अलास्का (USA) के कटमई को कहते हैं, जहां से बराबर धुएं का उद्गम होता रहता है।
  • माउंट एटना और विसूवियस ज्वालामुखी इटली में, माउंट सेंट हेलेंस अमेरिका में, मौनालोआ और किलायू हवाई (अमेरिका) में, फ्यूजीयामा जापान में, किलिमंजारो तंजानिया में, माउंट वेरिबस रॉस द्वीप (अंटार्कटिका) में, माउंट रैनियर अमेरिका में, पैरिकुटिन मेक्सिको में तथा माउंट टाल फिलीपींस में स्थित हैं। वर्तमान में विश्व का सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखी किलायू है।
नामऊंचाई (मी. में)देशअवस्थितिअंतिम
 उद्भेदन
ओजोस डेल सालाडो7,084अर्जेंटीना-चिलीएण्डीज1981
गुयालातिरी6,060चिलीएण्डीज1960
कोटोपैक्सी5,897इक्वाडोरएण्डीज1975
लस्कर5,641चिलीएण्डीज1968
टुपुंगाटीटो5,640चिलीएण्डीज1964
पोपोकेटापेटल5,451मेक्सिकोअल्टीप्लानो डी मैक्सिको1920
नेवाडो डेल रूइज5,400कोलंबियाएण्डीज1985
सैंगेय5,230इक्वाडोरएण्डीज1976
.नदियों के किनारे स्थित विश्व के प्रमुख शहर
शहर (देश)नदीशहर (देश)नदी
बर्लिन (पूर्वी जर्मनी)स्प्रीरोम (इटली)टाईवर
वारसा (पोलैंड)विस्चुलापेरिस (फ्रांस)सीने
सेंट लुइस (अमेरिका)मिसिसिपीप्राग (चेकोस्लोवाकिया)विंतावा
लंदन (इंग्लैंड)टेम्सखास्तूम (सूडान)नील
मास्को (रूस)मस्कवाकहिरा (मित्र)नील
वॉन (जर्मनी)रहीनेअंकरा (टर्की)किजिल
हाको (चीन)यांगटीसिक्यांगलिवरपूल (इंग्लैंड)मसी
ब्यूनस-आयर्स (अजे.)लाप्लाटाबेलग्रेड (यूगोस्लाविया)डेन्यूब
डंडी (स्कॉटलँड)टेवाशिंगटन (अमेरिका)पोटोमेक
कोलोन (जर्मनी)राइनटोक्यो (जापान)अराकाव
बुडापेस्ट(हंगरी)डेन्यूबरंगून (म्यांमार)इरावदी
वियना (आस्ट्रिया)डेन्यूबन्यूयार्क (सं.रा. अमेरिका)हडसन
शंघाई (चीन)यगिटिसी क्यांगलिस्बन (पुर्तगाल)टेगस
ओटावा (कनाडा)सेंट लॉरेंसडबलिन (आयरलैंड)लीफे
मेड्रिड (स्पेन)मैन्जनियरचटगांव (बांग्लादेश)मैयानी
कराची (पाकिस्तान)सिंधुहैम्बर्ग (जर्मनी)एल्वे
दिल्ली (भारत)यमुनाबसरा (इराक)दजला और फरात
शिकागो (अमेरिका)शिकागोलाहौर (पाकिस्तान)रावी
ब्रिस्टले (इंग्लैंड)एवनस्टालिनग्राड (रूस)वोल्गा
बगदाद (इराक)टाइग्रिसडेजिंग (जर्मनी)विस्टुला
पर्थ (आस्ट्रेलिया)स्वानसिडनी (आस्ट्रेलिया)डार्लिंग
अस्वान (मिस्र)नीलमाण्ट्रियल (कनाडा)सेट लॉरेंस
कीव (रूस)लीपर
विश्व की मुख्य अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाएं

रेखा का नामकिसके बीच
मैकमोहनरेखाभारत एवं चीन के मध्य
डूरंड-रेखापाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के मध्य
रैडक्लिफ रेखाभारत एवं पाकिस्तान के मध्य
हिण्डनबर्ग रेखाजर्मनी एवं पोलैण्ड के मध्य
मैगीनॉट रेखाजर्मनी एवं फ्रांस के मध्य
17वीं समानान्तर रेखाउत्तरी एवं दक्षिणी वियतनाम के बीच
38वीं समानान्तर रेखाउत्तरी एवं दक्षिणी कोरिया के मध्य
49वीं समानान्तर रेखायूएसए एवं कनाडा के बीच
24वीं समानान्तर रेखाभारत और पाकिस्तान
ओडरनास रेखाजर्मनी और पोलैंड
सीजफ्राइड रेखाजर्मनी और फ्रांस
विश्व की प्रमुख फसलें और उनका उत्पादन करने वाले देश 

मुख्य फसलेंदेश
चावलभारत, इंडोनेशिया, बांग्लादेश, वियतनाम
खाद्य तेलब्राजील, चीन, अर्जेंटीना, भारत
गेंहूचीन, भारत, अमेरिका, रूस, फ़्रांस
गेहूंचीन, भारत, अमेरिका, रूस, फ्रांस
जौफ्रांस, आस्ट्रेलिया, रूस, यूक्रेन, कनाडा
ज्वारभारत, नाइजीरिया, इथियोपिया, अमेरिका, अर्जेंटीना
दलहनभारत, मोजाबिक, पाकिस्तान, वियतनाम, थाईलैंड
मक्काअमेरिका, चीन, ब्राजील, अर्जेन्टीना, भारत
चायचीन, भारत, केन्या, श्रीलंका, तुर्की
कपासचीन, भारत, ब्राजील, पाकिस्तान, उज्बेकिस्तान
रबड़थाईलैण्ड, इण्डोनेशिया, मलेशिया, भारत, वियतनाम
कॉफ़ीब्राजील, वियतनाम, इण्डोनेशिया, कोलंबिया, इथियोपिया
तंबाकूचीन, भारत, ब्राजील, संयुक्त राज्य अमेरिका, मलावी
नारियलइण्डोनेशिया, फिलिपींस, भारत, ब्राजील, श्रीलंका
सूर्यमुखीयूक्रेन, रूस, अर्जेटीना, रोमानिया, फ्रांस
मूंगफलीचीन, भारत, नाईजीरिया, अमेरिका, म्यांमार
गन्नाब्राजील, भारत, चीन, वाईलैंड, पाकिस्तान
जूटबांग्लादेश, भारत, चीन, उज्बेकिस्तान, नेपाल
सिल्क (silk)जपान, चीन, कोरिया, भारत, तुर्की
कोको (Cocoa)कोस्ट डी आइवरी, इंडोनेशिया, घाना, नाइजीरिया, कैमरून
लौंग(Cloves)तंजानिया
मोटे अनाज (Coarse Grains)अमेरिका, चीन, ब्रार्जील, रूस
आलूचीन, भारत, अमेरिका, रूस, जर्मनी
मसालेभारत, बांग्लादेश, तुर्की, चीन, पाकिस्तान
प्याजचीन, भारत, अल्जीरिया चीन, भारत, अमेरिका, ईरान, मिस्र
टमाटरचीन, भारत, अमेरिका, तुर्की, मिस्र
 विश्व के सर्वाधिक खनिज भंडार वाले देश

खनिजसर्वाधिक खनिज भंडार वाले देश
प्लेटिनमद. अफ्रीका, रूस, अमेरिका
बाइराइटचीन, भारत, अल्जीरिया
टंगस्टनचीन, रूस, अमेरिका
चांदीपेरू, पोलैंड, चिली
बॉक्साइटगिनी, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील
पेट्रोलियमसऊदी अरब, वेनेजुएला, ईरान
प्राकृतिक गैसरूस, ईरान, कतर
कोयलाअमेरिका, रूस, चीन
लौह अयस्कआस्ट्रेलिया, ब्राजील, रूस
कैडमियमभारत, चीन, आस्ट्रेलिया
कोबाल्टकांगो, आस्ट्रेलिया, क्यूबा
तांबाचिली, पेरू, आस्ट्रेलिया
क्रोमाइटकजाखस्तान, द. अफ्रीका, भारत
ग्रेफाइटचीन, भारत, मेक्सिको
सोनाआस्ट्रेलिया, द. अफ्रीका, रूस
हीराकांगो, बोत्सवाना, आस्ट्रेलिया
निकिलआस्ट्रेलिया, न्यू कैल्डोनिया, ब्राजील
मैंगनीजद. अफ्रीका, यूक्रेन, ब्राजील
मैग्नेसाइटरूस, चीन, उ. कोरिया
सीसा (लेड)आस्ट्रेलिया, चीन, रूस
जस्ता (जिंक)आस्ट्रेलिया, चीन, पेरू
यूरेनियमऑस्ट्रेलिया, कजाख्तान, कनाडा
विश्व के सर्वाधिक खनिज उत्पादक देश



खनिज
उत्पादक देश
लोहाचीन, आस्ट्रेलिया, ब्राजील
तांबाचिली, पेरू, चीन
मैंगनीजचीन, द. अफ्रीका, आस्ट्रेलिया
बॉक्साइटऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, चीन
सोनाचीन, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका
जस्ता (जिंक)चीन, आस्ट्रेलिया, पेरू
हीरारूस, बोत्सवाना, कांगो
निकिलरूस, इंडोनेशिया, आस्ट्रेलिया
चांदीमैक्सिको, पेरू, चीन
सीसा (लेड)चीन, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका
अभ्रक (माइका)चीन, अमेरिका, द. कोरिया
ग्रेफाइटचीन, भारत, ब्रजील
क्रोमाइटद. अफ्रीका, कजाखस्तान, भारत
टंगस्टनचीन, रूस, बोलिविया
कोबाल्टकांगो, चीन, जाम्बिया
प्लेटिनमद. अफ्रीका, रूस, अमेरिका
बेंटोनाइटअमेरिका, चीन, ग्रीस
यूरेनियमकजाख्स्तान, कनाडा, आस्ट्रेलिया
कोयलाचीन, अमेरिका, भारत
पेट्रोलियमरूस, सऊदी अरब, अमेरिका
प्राकृतिक गैसरूस, अमेरिका, कनाडा
थोरियमभारत, ब्राजील, अमेरिका
मैग्नेसाइटचीन, रूस, तुर्की
एल्युमिनियमचीन, रूस, कनाडा
फेल्सपारतुर्की, इटली, चीन
जिप्समचीन, ईरान, थाईलैंड
एस्बेस्टसरूस, चीन, ब्राजील
कैडमियमचीन, द. कोरिया, जापान
विश्व की प्रमुख जलसंधियां
  • 1. मलक्का जलसंधि - अंडमान सागर एवंबीदक्षिणी चीन सागर
  • 2. पाक जलसंधि - मन्नार एवं बंगालनकी खाड़ी
  • 3. सुंडा जलसंधि - जावा सागर एवं हिंद महासागर
  • 4. बाव-एल मंडव जलसंधि - लाल सागर-अरब सागर
  • 5. कुक जलसंधि - दक्षिण प्रशांत महासागर
  • 6. मोजाम्बिक चैनल - हिंद महासागर
  • 7. नॉर्थ चैनल - आयरिश सागर एवं अटलांटिक महासागर
  • 8. बेरिंग जलसंधि - बेरिंग सागर एवं चुक्सी सागर
  • 9. डेविस जलसंधि - बेफिन खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
  • 10. डेनमार्क जलसंधि - उ. अटलांटिक एवं आर्कटिक महासागर
  • 11. डोवर जलसंधि - इंग्लिश चैनल एवं उत्तरी सागर
  • 12. फ्लॉरिडा जलसंधि >मैक्सिको की खाड़ी एवं अटलांटिकबीमहासागर
  • 13. हारमुज जलसंधि - फारस की खाड़ी एवं ओमान की खाड़ी
  • 14. हड़सन जलसंधि -हड़सन की खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
  • 15. जिब्राल्टर जलसंधि - भूमध्य सागर एवं अटलांटिक महासागर
  • 16. मैगेलन जलसंधि - प्रशांत एवं दक्षिण अटलांटिक महासागर

1 comment:

Powered by Blogger.